North-Central India

अब यूपी में ‘टूरिस्ट पुलिस’ करेगी विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा

लखनऊ। हाल ही के दिनों में जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ताजमहल का यूपी टूरिज्म बुक से हटाए जाने पर काफी विवाद हुआ तो दूसरी और ताज का दीदार करने आए आगरा पहुंचे स्विस कपल पर हमला सुर्ख़ियों में रहा। इन सब के मद्देनजर यूपी सरकार प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने की हर मुमकिन कोशिश करने में लगी है। इसी क्रम में सूबे की पुलिस के मुखिया डीजीपी सुलखान सिंह ने भी पर्यटकों की सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिए ‘टूरिस्ट पुलिस’ तैनात करने के निर्देश जारी किए हैं।





स्विस युगल पर हुए हमले की घटना को देखते हुए शासन ने कड़े निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही प्रदेश के डीजीपी ने भी गाइडलाइन जारी कर जिलों की पुलिस को पर्यटन स्थलों को चिह्न्ति करने को कहा  है। जिन स्थानों पर ज्यादा पर्यटक आते हैं वहां अब सीओ को तैनात किया जायेगा। पर्यटक स्थलों पर कुछ ऐसे पुलिसकर्मी तैनात किये जाएंगे जिन्हें अंग्रेजी का ज्ञान होगा।

संदिग्ध लोगों पर नजर रखेंगी ये पुलिस 

डीजीपी सुलखान सिंह के अनुसार पर्यटन के लिहाज से यूपी बेहद महत्वपूर्ण है और यहां हर वर्ष लाखों सैलानी आते हैं। इनमें सबसे ज्यादा संख्या विदेशी पर्यटकों की होती है। ऐसे क्षेत्रों में संबंधित सीओ, एसओ व पीआरवी नियमित गश्त करेंगे। इसके साथ ही चिह्न्ति पर्यटक स्थलों पर सादा वर्दी में भी पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा जो अराजकतत्वों व संदिग्ध लोगों पर नजर रखेंगे।

‘टूरिस्ट पुलिस’ मिला एक स्पेशल नाम

पर्यटन स्थलों पर तैनात पुलिसकर्मियों को एक ‘टूरिस्ट पुलिस’ नाम दिया गया है। सभी तैनात पुलिसकर्मी अपनी वर्दी पर ‘टूरिस्ट पुलिस’ का बैच लगाएंगे। पर्यटक जरूरत पड़ने पर सीधा इनसे मदद ले सकेंगे। इसके साथ ही पर्यटकों के आने वाले स्थानों रेलवे स्टेशन, होटल, रेस्त्रां मॉल, साइबर कैफे पर एसएसपी से लेकर एसओ तक के मोबाइल नंबर व पुलिस की विभिन्न हेल्पलाइन के नंबर दर्ज कराए जायेंगे। पर्यटक स्थलों पर नियुक्त गाइड, फोटोग्राफर, होटलकर्मियों, टैक्सी चालकों, नाविकों तथा पर्यटन व्यवसाय से जुड़े अन्य व्यक्तियों का समय-समय पर भौतिक व चरित्र सत्यापन कराया जायेगा।

यह साफ है यूपी में अधिक पर्यटक आएंगे तो प्रदेश के विकास को गति मिलेगी और लोगों को रोजगार भी उपलब्ध होंगे। यही कारण है कि खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी धार्मिक और सांस्कृतिक धरोहरों का खुद दौरा कर रहे हैं और उसके कायाकल्प में भी लगे हुए हैं ताकि प्रदेश में विदेशी सैलानियों को बेहतर माहौल दिया जा सके और यूपी को उत्तम प्रदेश बनाया जा सके।

Comments

Most Popular

To Top