North India

उत्तर प्रदेश: 5 जिलों में तैनात होंगे ATS के ‘स्पॉट कमांडो’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस का आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) अब और भी मजबूत होगा, क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नई कमांडो इकाई (स्पेशल पुलिस आपरेशंस टीम) यानी स्पॉट का गठन किया है। इस टीम में ऐसे कमांडो किसी भी आपात स्थिति से निपटने में सक्षम होंगें। सूत्रों के मुताबिक ये कमांडो लखनऊ गोरखपुर, आगरा, वाराणसी व गाजियाबाद में भी तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा एटीएस को एडवांस अस्त्र-शस्त्र तथा वाहनों से लैस करने की भी योजना है।





एटीएस के आईजी असीम अरुण ने जानकारी देते हुए बताया कि आतंकवाद से प्रदेश को सुरक्षित करने के उद्देश्य से स्पॉट (स्पेशल पुलिस आपरेशंस टीम) कमांडो इकाई का गठन किया गया है, ताकि आतंकियों के बारे में खुफिया जानकारी जुटाने, इंटरनेट की निगरानी और घटनाओं की विवेचना प्रक्रिया तेज हो सके। इन के लिए 694 पदों की मंजूरी मिली है। इसके साथ ही एटीएस में 316 नए पद सृजित किए गए हैं,जबकि वर्ष 2007 में एटीएस के लिए 264 पद सृजित किए गए थे।

NSG की तरह किया जाएगा प्रशिक्षित

अधिकारियों का कहना है कि ‘स्पॉट’ प्रदेश में खतरनाक अभियानों के लिए विश्व स्तरीय क्षमता वाली टीम होगी, जिसे देश के नेशनल सेक्योरिटी गार्ड्स (एनएसजी) की तरह ही प्रशिक्षित किया जाएगा। ‘स्पॉट’ के प्रमुख की जिम्मेदारी डीआईजी स्तर के पुलिस अधिकारी को सौंपी जाएगी, जो एडीजी कानून-व्यवस्था और आईजी एटीएस के अधीन काम करेगा।

जानकारी के अनुसार ‘स्पॉट’ की कुल 9 टीमें बनाई जाएंगी, जिसमें से तीन को लगातार प्रशिक्षण में रखा जाएगा। बाकी छह टीमों में से दो लखनऊ में तथा अन्य गोरखपुर, आगरा, वाराणसी व गाजियाबाद में तैनात की जाएंगी। इन टीमों को पीएसी के साथ ही रखा जाएगा।

‘स्पॉट’ की प्रत्येक टीम में स्नाइपर्स, बम डिस्पोजल स्पेशलिस्ट, डॉग स्क्वायड व दो कम्युनिकेशन ऑफिसर शामिल होंगे। ‘स्पॉट’ के लिए भवन लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट के नजदीक 109.82 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित किया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top