North India

पुलिसकर्मियों ने गृहमंत्री को सलामी देने से किया इनकार

जोधपुर। सोशल मीडिया पर फैली अफवाह से क्या ऐसा भी हो सकता है कि केंद्रीय गृह मंत्री राज्य में हों और उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर देने वाले पुलिसकर्मी छुट्टी कर लें। जी हां, सोमवार को कुछ ऐसा ही हुआ। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक राजस्थान में पुलिस कांस्टेबल के वॉट्स ग्रुप पर एक मैसेज वायरल हुआ कि राज्य सरकार ने उनके वेतन में कटौती कर दी है। पुलिसकर्मियों ने इस मैसेज को सच मान लिया और ढाई सौ पुलिसकर्मी सामूहिक अवकाश पर चले गए। बताया जाता है कि इन पुलिसकर्मियों में से कुछ पुलिसकर्मी वे भी थे जिन्हें जोधपुर में सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को गार्ड ऑफ ऑनर देना था। एक साथ बड़ी संख्या में कांस्टेबलों के छुट्टी करने से पुलिस विभाग में खलबली मच गई। विभाग को गार्ड ऑफ ऑनर के लिए अन्य पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगानी पड़ी।





अखबार ने जोधपुर के पुलिस कमिश्नर अशोक राठौड़ के हवाले से बताया कि राज्य के 250 से ज्यादा पुलिसकर्मी ने अचानक छुट्टी कर ली। हालांकि छुट्टी स्वीकृत नहीं थी। इनमें से कुछ पुलिसर्मी वे भी थे जिन्हें गृहमंत्री राजनाथ सिंह को गार्ड ऑफ ऑनर देना था। वे नहीं आए तो उनकी जगह दूसरे पुलिसकर्मयों को यह ड्यूटी दी गई।

पुलिस अधिकारियों ने इसे गंभीर मुद्दा बताते हुए अनुशासनहीनता को बर्दाश्त न करने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।

दरअसल हुआ यह कि सोशल मीडिया के जरिए पुलिस कांस्टेबलों के बीच यह अफवाह फैल गई कि उनका वेतन 24 हजार रुपये से घटाकर 19 हजार रुपये कर दिया जाएगा। पुलिस महानिदेशक ने पुलिस अधिकारियों से कहा है कि वे अफवाहों को दूर करने के लिए कांस्टेबलों से बात करें।

 

Comments

Most Popular

To Top