Police

पुलिस कांस्टेबल ने ऐसे बचाईं कई जान…

कांस्टेबल अभिषेक पटेल

सागर(मध्य प्रदेश)। दस किलो वजनी तोप का गोला किसी रिहायशी इलाके में पड़ा हो तो कोई क्या करेगा। पहले पुलिस को बुलाएगा और फिर हो सकता है पुलिस बम निरोधक दस्ते को बुलाए, लेकिन मध्य प्रदेश के सागर जिले में कुछ और ही नजारा देखने को मिला।





हुआ यूं कि सागर जिले के चितोरा गांव के स्कूल में एक दस किलो वजनी बम पड़ा मिला। बम की सूचना मिलते ही अफरा-तफरी मच गई। स्कूल प्रशासन ने पहला अच्छा काम यह किया कि तुरंत ही स्कूल में छुट्टी कर दी। तत्काल स्कूल को बच्चों से खाली कराया गया लेकिन इस सारी प्रक्रिया में काफी समय बीत गया। पुलिस को खबर दी गई। जब तक पुलिस पहुंची तोप का गोला वहीं पड़ा रहा। गोला कहीं फट न जाये, इस डर से लोग दूर-दूर ही मंडराते रहे।

मौके पर पहुंचे पुलिस कांस्टेबल अभिषेक पटेल ने सुझबूझ और साहस दिखाते हुए 10 किलो वजनी गोले को उठाया और कंधे पर लाद दौड़ने लगे। अभिषेक के दिमाग में एक ही बात घूम रही थी कि किस तरह वह इस गोले को रिहायशी इलाके  और स्कूल से दूर ले जायें। अभिषेक गोले को निर्जन इलाके में ले जाना चाहते थे ताकि अगर विस्फोट भी हो जाये तो भी जान-माल की हानि न हो। तोप का गोला कभी भी फट सकता था लेकिन अभिषेक पटेल ने साहस दिखाया औऱ एक किलोमीटर तक दौड़ते चले गये। अभिषेक पटेल का एक 12 सेकंड का वीडियो भी वायरल हुआ जिसमें वे गोले को कंधे पर लादकर दौड़ते दिख रहे हैं।

सागर के आईजी सतीश सक्सेना ने कांस्टेबल अभिषेक को इनाम देने की घोषणा की है। बम स्कूल तक कैसे पहुंचा इसकी कई कोणों से जांच की जा रही है। वैसे घटनास्थल के पास ही आर्मी का शूटिंग रेंज है।

 

Comments

Most Popular

To Top