Police

दिल्ली पुलिस के दिलचस्प तथ्य: हुक्का चोरी पर पहली FIR

दिल्ली पुलिस में 156 साल पहले दर्ज हुई थी पहली शिकायत

दिल्ली पुलिस दुनिया के सबसे बड़े महानगरीय पुलिस बल में से एक है। ‘शांति सेवा न्याय’ के उद्देश्य के साथ अपनी ड्यूटी निभाने वाले पुलिस बल ने राजधानी की सुरक्षा में कई कीर्तिमान बनाए हैं। किन्तु क्या आप जानते हैं कि दिल्ली पुलिस ने पहली FIR पैंतालीस आने का सामान चोरी होने की शिकायत पर दर्ज की थी। आइये जानते हैं दिल्ली पुलिस से जुड़ी कुछ ऐसे ही दिलचस्प तथ्यः





156 साल पहले दर्ज हुई थी पहली FIR

1861 दिल्ली पुलिस ने हुक्का चोरी होने पर पहली एफआईआर दर्ज की थी

अक्टूबर 1861 यानी आज से 156 वर्ष पहले पुलिस एक्ट के तहत दिल्ली पुलिस ने पहली एफआईआर दर्ज की थी। उत्तरी दिल्ली के सब्जी मंडी पुलिस थाने में उर्दू भाषा में दर्ज हुई थी। उत्तर दिल्ली पुलिस ने इस एफआईआर को फ्रेम करा कर एक संग्रहालय में रखवाया है।

45 आने का सामान चोरी होने पर दर्ज की गई थी रिपोर्ट

दिल्ली पुलिस में 156 साल पहले दर्ज हुई थी पहली शिकायत

 

ये पहली FIR कटरा शीश महल के निवासी, मोहम्मद यार खान के पुत्र मइउद्दीन द्वारा दर्ज की गयी थी। उनके घर से 45 आने (2.81 रुपये) के सामान की की चोरी हुई थी। उनके घर से खाना पकाने के तीन बर्तन और एक कुल्फी, कुछ कपड़े और एक हुक्का चोरी हो गया था।

सब्जी मंडी पुलिस थाने में दर्ज हुईं कई दिलचस्प FIR

शुरुआत में दिल्ली पुलिस ने संतरे चोरी होने की रिपोर्ट भी दर्ज की थी

सब्जी मंडी पुलिस स्टेशन ने ऐसी कई रिपोर्ट संभालकर रखी हैं जिनमें उन दिनों में दर्ज दिलचस्प शिकायतों का ब्योरा है। तीस अप्रैल 1895 को दर्ज रिपोर्ट बताती है कि कैसे एक खच्चर (टट्टू) चोरी हो गया था। 16 फरवरी, 1891 को दो आने की कीमत के 11 संतरों की चोरी का मामला भी दर्ज है। 13 दिसंबर, 1894 को दर्ज एक FIR बताती है कि कैसे एक जेबकतरे को चार आने की चोरी करते हुए पकड़ा गया था। यही नहीं,15 मार्च, 1897 को एक आदमी को पांच आने का पायजामा चुराने के लिए गिरफ्तार किया गया था। अदालत ने उसे पांच कोड़े की सजा सुनाई थी।

कोतवाल व्यवस्था के बाद बनी दिल्ली पुलिस

1947 के दौरान दिल्ली पुलिस

आप शायद नहीं जानते होंगें कि दिल्ली पुलिस की स्थापना से पहले कोतवाल व्यवस्था थी। दिल्ली का पहला कोतवाल मालिक उमर फखरुद्दीन को बताया जाता है। वह 40 वर्ष की उम्र में कोतवाल बने। वे ईमानदार थे, इसलिए उन्हें कोतवाल बनाया गया।

पंडित जवाहर लाल नेहरू के दादा थे अंतिम कोतवाल

 

गंगाधर नेहरू

दिल्ली के आखिरी कोतवाल गंगाधर नेहरू (फाइल फोटो)

1857 की क्रांति के बाद फिंरंगियों ने दिल्ली पर कब्जा कर लिया और उसी के साथ दिल्ली में कोतवाल व्यवस्था भी खत्म हो गई। पंडित जवाहरलाल नेहरू के दादा और पंडित मोती लाल नेहरू के पिता पंडित गंगाधर नेहरू दिल्ली के अंतिम कोतवाल थे।

पंजाब पुलिस का हिस्सा थी दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस

 

1854 में दिल्ली पुलिस की स्थापना एक छोटे से सुरक्षा बल के रूप में हुई थी। भारतीय पुलिस अधिनियम को अपनाने के बाद 1861 में स्थापित, दिल्ली पुलिस 1947 तक पंजाब पुलिस का हिस्सा थी। देहात इलाके के लिए 1861 में बना नांगलोई थाना 1872 तक मुंडका थाने के नाम से जाना जाता था।

डी डब्ल्यू मेहरा थे पहले दिल्ली पुलिस प्रमुख

दिल्ली पुलिस

1948 में दिल्ली पुलिस का पुनर्गठन हुआ। डी डब्ल्यू मेहरा दिल्ली पुलिस के पहले प्रमुख बने। 1951 में दिल्ली पुलिस बल की संख्या लगभग 8,000 थी, जिसमें एक पुलिस महानिरीक्षक और आठ अधीक्षक पुलिस (एसपी) शामिल थे। 1956 में पुलिस उपमहानिरीक्षक पद का गठन किया गया था। 1961 में, दिल्ली पुलिस की ताकत 12,000 से अधिक थी।

जे.एन. चतुर्वेदी थे पहले दिल्ली पुलिस आयुक्त

 

दिल्ली-पुलिस

दिल्ली पुलिस (फाइल फोटो)

 

दिल्ली पुलिस के पहले प्रमुख डी. डब्ल्यू. मेहरा को 16 फरवरी को नियुक्त किया गया था। इसलिए यह दिन दिल्ली पुलिस के स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है। 1 जुलाई 1978 में दिल्ली पुलिस एक्ट पारित होने पर जे.एन. चतुर्वेदी दिल्ली पुलिस के पहले आयुक्त नियुक्त किए गए।

शहर में दिल्ली पुलिस के 180 पुलिस स्टेशन

दिल्ली पुलिस का पराक्रम दस्ता

दिल्ली पुलिस आयुक्त दिल्ली पुलिस का प्रमुख होता है। 1966 में भारत सरकार ने दिल्ली पुलिस की समस्याओं को सुलझाने के लिए जस्टिस डी. सी. खोसला की अध्यक्षता में दिल्ली पुलिस आयोग का गठन किया गया और इस रिपोर्ट के आधार पर दिल्ली पुलिस को पुनर्गठित किया गया और इसे चार जिलो में बांट दिया गया। दिल्ली पुलिस की ताकत वर्तमान में 76,000 से भी ज्यादा है। वर्तमान में, दिल्ली पुलिस में 3 रेंज, 11 जिले और 180 पुलिस स्टेशन हैं।

अमूल्य पटनायक वर्तमान दिल्ली पुलिस आयुक्त

दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक

दिल्ली पुलिस का मुख्यालय इन्द्रप्रस्थ एस्टेट (आईटीओ) नई दिल्ली में स्थित है और वर्तमान में अमूल्य पटनायक दिल्ली पुलिस आयुक्त हैं। उन्हें 30 जनवरी 2017 को नियुक्त किया गया। दिल्ली पुलिस के सबसे लम्बे समय तक सेवारत आयुक्त वाई.एस. डडवाल हैं जो 41 माह (2007-2010) तक दिल्ली पुलिस आयुक्त पद पर कार्यरत रहे।

Comments

Most Popular

To Top