East India

बहादुरी के लिए हेड कांस्टेबल को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

बहादुरी के लिए हेड कांस्टेबल को मिला सम्मान

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने सागर जिले के हेड कांस्टेबल को अपनी जान-जोखिम में डालकर 400 बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए सम्मानित किया है। अपने कंधे पर जिंदा बम लेकर दौड़ने वाले अभिषेक को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रोत्साहन के तौर पर 50,000 रुपए का चेक सौंपा।





400 जिंदगियां मेरी जान से ज्यादा कीमती थीं : अभिषेक

बहादुरी के लिए हेड कांस्टेबल को मिला सम्मान

मध्य प्रदेश के जनसंपर्क विभाग के अधिकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर 50 हजार का चैक सौंपा है सम्मानित किए जाने पर अभिषेक ने कहा कि उन्हें अपनी जान की परवाह नहीं थी, क्योंकि 1 जान से ज्यादा कीमती 400 जानें थी।

10 किलो का बम कंधे पर उठा एक किलोमीटर दूर फेंका बम

बता दें कि रविवार को किसी ने 100 नंबर पर सुचना दी कि सागर जिले के चितोरा गांव के एक माध्यमिक स्कूल के पास एक तोप का गोला पड़ा है। पुलिस कांस्टेबल अभिषेक पटेल जब वहां पहुंचे तो स्कूल में 400 बच्चे मौजूद थे। बम निरोधक दस्ता काफी देर तक नहीं पहुंचा तो अभिषेक ने जल्दी से स्कूल खाली करवाने को कहा और दस किलो वजन वाले इस बम को अपने कंधे पर रखकर दौड़ना शुरू कर दिया। इस भारी बम को कंधे पर उठाए वह एक किलोमीटर तक दौड़े और इसे दूर ले जाकर एक नाले में नाले में फेंक दिया।

कांस्टेबल की बहादुरी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। बम को लेकर भागते समय कांस्टेबल का 12 सेकेंड का वीडियो भी वायरल हो गया।

Comments

Most Popular

To Top