Police

कोरोना का असर: हिमाचल पुलिस हेडक्वॉर्टर में बायोमीट्रिक एटेंडेंस पर रोक

हिमाचल पुलिस

शिमला। हिमाचल के स्वास्थ्य विभागों की सलाह के बाद पुलिस ने सक्रियता बढ़ाते हुए पुलिस मुख्यालय में बायोमीट्रिक हाजिरी पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है। पुलिस मुख्यालय के एआईजी की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि वायरस के संक्रमण से बचने के लिए रोक लगाई गई है।





अफसरों और कर्मचारियों को इस दौरान रजिस्टर में मैनुअल हाजिरी लगानी होगी। इस दौरान हर शाखा प्रमुख को हाजिरी का रिकॉर्ड भी मेनटेन रखना होगा। मालूम हो कि केंद्रीय कार्यालय और राज्य सचिवालय में पहले ही बायोमीट्रिक से हाजिरी लगाने पर रोक लगा दी गई है।

हिमाचल सरकार ने दावा किया है कि हिमाचल में कोरोना वायरस के किसी भी संदिग्ध का सैंपल पॉजिटिव नहीं पाया गया है। प्रदेश के 03 संदिग्ध लोगों के सैंपल दिल्ली और पुणे की लैब में भेजे गए थे, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। इनमें 02 मां-बेटी टांडा मेडिकल कॉलेज और एक आईजीएमसी शिमला में भर्ती थीं। इससे प्रदेश के स्वास्थ्य महकमे ने भी सुकून की सांस ली है। महकमे ने सरकारी कार्यालयों में बायोमीट्रिक हाजिरी पर रोक का सुझाव दिया है।

बता दें कि अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने लोगों को हालात के मद्देनजर सामूहिक सभाओं में एकत्रित न होने की सलाह दी है। साथ ही अगर किसी ऐसी सभा का आयोजन किया गया हो तो विभाग के जारी दिशा-निर्देश को अपनाया जाए। स्वास्थ्य विभाग ने सभी सरकारी महकमों को सलाह ही है कि वायरस के खतरे को देखते हुए 31 मार्च तक बायोमीट्रिक से एटेंडेंस दर्ज करने की प्रक्रिया को तुरंत रोक लगाई जाए। धीमान ने बताया कि प्रदेश के कुल 218 लोग ऐसे थे जो प्रभावित देशों से हिमाचल आए थे। ऐसे लोगों को सुरक्षा के मद्देनजर वृहद गृह निगरानी में रखा गया था और 190 लोग करीब 28 दिनों की निगरानी अवधि पूरी कर चुके हैं और किसी में भी कोरोना वायरस के संक्रमण नहीं मिले।

गौरतलब है कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से मीटिंग कर स्थिति की समीक्षा की।

Comments

Most Popular

To Top