ITBP

लद्दाख के चांगथांग में ITBP और स्थानीय लोगों ने चीनी सैनिकों को खदेड़ा

आईटीबीपी

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनातनी के बीच पूर्वी लद्दाख के न्योमा इलाके के चांगथांग गांव में दो गाड़ियों के जरिए सिविल ड्रेस में चीनी सैनिकों का एक ग्रूप भारतीय सीमा में घुस आया था। इन्हें स्थानीय लोगों ने भारतीय-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों की मदद से वापस खदेड़ दिया। यह इलाके लद्दाख में लेह से 135 किलोमीटर पूर्व में स्थित है। ये जानकारी रविवार को स्थानीय लोगों की ओर से सर्कुलेट किए गए एक वीडियो के माध्यम से सामने आई।





चीनी सैनिक जो सिविल ड्रेस में थे वे स्थानीय खानाबदोशों के साथ बहस कर रहे थे ताकि उनके मवेशी उस इलाके में चर सकें। पर स्थानीय लोगों के मजबूत विरोध के कारण उन्हें वापस जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। स्थानीय लोगों ने आईटीबीपी के जवानों को भी इस बारे में सूचित किया। खबरों के मुताबिक यह पूरी घटना कुछ दिन पहले की है।

वीडियो में दिख रहा है कि दो चीनी वाहन जिसमें सिविल ड्रेस में सैनिकों का एक ग्रूप बैठा हुआ था। वे चांगथांग में भारतीय क्षेत्र में भीतर घुस आए थे। हालांकि बाद में स्थानीय लोगों के कड़े विरोध के बाद उन्हें वापस जाना पड़ा। वहीं आईटीबीपी के जवान भी उनका सामना करने के लिए एक्शन में आ गए थे।

ITBP अधिकारियों ने इस घटना को लेकर कुछ भी बोलने से मना कर दिया है। वहीं घटना के वीडोयो में स्पष्ट देखा जा सकता है कि चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में प्रवेश किया था। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

गौरतलब है कि लेह के चांगथांग में अधिकतर तिब्बती शरणार्थी ही रहते हैं। यह रशपो घाटी में समुद्र तल से तकरीबन 14,600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह गांव चांगपा खानाबदोशों का घर है। यह घटना ऐसे समय पर सामने आई है जब भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में पिछले 08 माह से लगातार गतिरोध की स्थिति बनी हुई है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top