ITBP

स्थापना दिवस: 180 मजबूत सीमा-चौकियों के साथ ITBP कर रहा है देश की सुरक्षा- देसवाल

आईपीएस देसवाल

नई दिल्ली। भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (ITBP) भारत-चीन सीमा पर 180 मजबूत चौकियों के साथ देश की सरहद की हिफाजत कर रहा है। आईटीबीपी ने पिछले 05 वर्षों के दौरान बहुत तरक्की की है तथा यह और अधिक बलशाली हुआ है। यह जानकारी बल के महानिदेशक एसएस देसवाल ने आज पत्रकारों को दी।





आईटीबीपी ने अपनी स्थापना के 58वें वर्ष में प्रवेश करने के पूर्व आज नई दिल्ली में सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित बल के मुख्यालय में वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में बल के महानिदेशक एस एस देसवाल ने पत्रकार वार्ता को संबोधित किया।

प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बल में शामिल किए गए नए उपकरणों, वाहनों आदि की जानकारी दी और कहा कि आने वाले समय में बल द्वारा सीमाओं पर आधारभूत संरचना के निर्माण के विषय में कई ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बल कि आवश्यकता को देखते हुए सीमाओं पर प्रियॉरिटी रोड की निर्माण की गति को तेज किया गया है और भविष्य में आधारभूत संरचना के निर्माण में और तेजी लाई जाएगी।

आईटीबीपी अफसर

उन्होंने बल की क्षमताओं के बारे में उल्लेख करते हुए कहा कि बल हर परिस्थिति से निबटने के लिए हमेशा तैयार है और सरकार द्वारा सौंपी गई किसी भी प्रकार की ड्यूटी को निभाने में सक्षम है।

बल के महानिदेशक ने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बल द्वारा किए जा रहे अभियानों और उपलब्धियों की भी जानकारी दी और कहा कि बल देश की आंतरिक सुरक्षा की सौंपी गई ड्यूटीज में भी खरा उतरती रही है। देसवाल ने अपने संबोधन में बल द्वारा बल कर्मियों के कल्याण से संबंधित कई योजनाओं आदि के विषय में जानकारी दी।

उन्होंने बल के पर्वतारोहण के क्षेत्रों में उपलब्धियों और रेस्क्यू एंड रिलीफ ऑपरेशंस में इसके योगदान की भी विस्तार से चर्चा की ।

गौरतलब है कि आईटीबीपी की स्थापना दिवस परेड 24 अक्टूबर को 39वीं वाहिनी आइटीबीपी ग्रेटर नोएडा में आयोजित की जा रहा है जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि होंगे। बता दें कि 24 अक्टूबर, 1962 को आईटीबीपी का गठन भारत-चीन सीमा संघर्ष के दौरान विशेष परिस्थितियों में किया गया था। बल को पर्वतारोहियों के बल के रूप में जाना जाता है जिसकी अग्रिम चौकियों लगभग 19,000 फीट तक की ऊंचाइयों में स्थित हैं।

 

Comments

Most Popular

To Top