ITBP

कोरोना का असर: ITBP के छावला सेंटर से घर वापस भेजे गए वुहान से लाए गए नागरिक

वुहान से लाए गए नागरिक

नई दिल्ली। छावला स्थित भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) कैंप में बने कोरनटाइन सेंटर में चीन से तीसरे समूह में लाए गए 112 व्यक्तियों में से अधिकतर को रवाना कर दिया गया है। बाकी लोगों को आज ट्रेन व फ्लाइट से रवाना किया जा रहा है।





केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय और आईटीबीपी के महानिदेशक एसएस देसवाल ने आईटीबीपी केन्द्र में कोरनटाइन अवधि के बाद वापस भेजे जा रहे लोगों से मुलाकात की। राय ने आईटीबीपी की सराहना की और कहा कि आईटीबीपी ने आदर्श कोरनटाइन केन्द्र का बेहतर प्रबंधन किया है। उन्होंने ITBP के जवानों के हौसले की भी तारीफ की।

गौरतलब है कि ITBP सेंटर में 27 फरवरी को 112 लोग लाए गए थे। 112 लोगों के समूह में 76 भारतीय और 36 विदेशी नागरिक हैं। इनमें 8 परिवार और 5 बच्चे हैं। विदेशी नागरिकों में बांग्लादेश के 23, चीन के 6, म्यामांर और मालदीव के 2-2 तथा मेडागास्कर, दक्षिण अफ्रीका और अमेरिका के 1-1 नागरिक हैं।

लोगों की दो बार जांच की गई। पहली जांच उनके पहुंचने के दिन और दूसरी जांच कोरनटाइन अवधि के 14वें दिन की गई और सभी के नमूने निगेटिव पाए गए। सभी लोगों को आवश्यक बुनियादी सुविधाएं प्रदान की गईं। उनकी दैनिक निगरानी और जांच समय-समय पर आईटीबीपी के चिकित्सा दल द्वारा की गईं।

छावला कोरनटाइन शिविर 1 फरवरी, 2020 को वुहान से पहली खेप में लाए जाने से 48 घंटे पहले आईटीबीपी द्वारा स्थापित किया गया। अभी तक शिविर में 518 लोगों को सफलतापूर्वक कोरनटाइन किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top