ICG

स्पेशल रिपोर्ट: भारतीय तटरक्षक बल को मिला नया गश्ती पोत

ICG को मिला पेट्रोलिंग पोत
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारतीय कोस्ट गार्ड में नया फास्ट पेट्रोल शिप कनकलता बरुआ बुधवार को औपचारिक तौर पर कमीशन किया गया। इस पोत के जरिये भारतीय कोस्ट गार्ड को भारतीय समुद्री इलाके के विशेष आर्थिक क्षेत्र में गश्ती बढ़ाने का मौका मिलेगा। यह पोत भारतीय समुद्र तटों की चौकसी में भी भूमिका निभाएगा। इस पोत के जरिये भारतीय समुद्री इलाकों में अवांछित तत्वों पर निगाह रखी जा सकेगी।





49 मीटर लम्बा और 310 टन विस्थापन क्षमता वाला यह पोत कोलकाता स्थित गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (GRSE) द्वारा बनाया गया है। सार्वजनिक क्षेत्र की रक्षा मंत्रालय की इस कम्पनी ने कोस्ट गार्ड को ऐसे पांच तेज गश्ती पोत बना कर दिये हैं। कोस्ट गार्ड ने कहा है कि ऐसे पोतों का घरेलू निर्माण आत्मनिर्भर भारत की एक बेहतरीन मिसाल है। भारतीय कोस्ट गार्ड स्वदेशी पोतों को कमीशन करने में सबसे अग्रणी रहा है। बीच समुद्र में खोजी और राहत मिशन के लिये इस पोत पर दो तेज गति वाली नौकाएं सवार की जा सकती हैं। इन नौकाओं के जरिये राहत व खोजी मिशन पूरे किये जा सकते हैं। इसका 70 प्रतिशत हिस्सा घरेलू उत्पादित है।

यह पोत कनक लता बरुआ के नाम पर रखा गया है जो 1942 के भारत छोडो आन्दोलन के दौरान भारतीय तिरंगा लहराते हुए एक जुलूस का नेतृत्व करते हुए शहीद हो गई थीं। इस पोत की कमान कमांडांट सुभाष कपूर को सौंपी गई है। इस पोत के कमीशन होने के साथ ही भारतीय कोस्ट गार्ड में अब 151 पोत औऱ 62 विमान हो जाएंगे। कोस्ट गार्ड के लिये हिंदुस्तान एरोनाटिक्स द्वारा 16 अडवांस्ड लाइट हेलीकाप्टर बनाए जा रहे हैं।

Comments

Most Popular

To Top