ICG

स्पेशल रिपोर्ट: कोस्ट गार्ड के स्वदेशी पोतों का रक्षा मंत्री ने किया कमीशन

रक्षा मंत्री ने पोत को किया कमीशन

नई दिल्ली। भारतीय कोस्ट गार्ड के लिये देश में ही बने आफशोर पेट्रोल वेसेल सीजीएस सचेत औऱ दो इंटरसेप्टर बोटों का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कमीशन किया। गोवा शिपयार्ड लि. द्वारा बनाये जाने वाले 05 से यह पहला समुद्र तटीय गश्ती पोत है। यह पोत अत्याधुनिक दिशानिर्देश और संचार उपकरणों से लैस है। 105 मीटर लम्बा पोत 2,350 टन विस्थापन क्षमता का है।





इस पोत का डिजाइन और निर्माण गोवा शिपयार्ड द्वारा किया गया है। पहली बार डिजिटल तरीके से किसी पोत को कमीशन किया गया है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये गोवा शिपयार्ड के कर्मियों को इस उपलब्धि के लिये सराहना करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि तीनों पोतों को कमीशन किया जाना भारत की तटीय सुरक्षा में मील का एक पत्थर है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की चुनौती के बावजूद तीनों पोतों को कमीशन किया जाना देश की सुरक्षा के लिये प्रतिबद्धता के प्रदर्शन की बडी मिसाल है।

दो इंटरसेप्टर बोटों का निर्माण हजीरा स्थित लार्सन एंड टूब्रो ने किया है। 30 मीटर लम्बे ये पोत 45 समुद्री मील प्रति घंटा की गति से सागर में चलते हुए किसी पोत का पीछा कर सकते हैं।

क्षेत्र के सभी लोगों के लिये सुरक्षा और विकास ( सागर ) की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अवधारणा के बारे में रक्षा मंत्री ने कहा कि सागर न केवल हमारे देश के लिये बल्कि पूरे विश्व की जीवनरेखा हैं। उन्होंने कहा कि लेकिन समुद्र राष्ट्रविरोधी ताकतों द्वारा खतरा भी पैदा करते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि दुनिया के चौथे सबसे बडे कोस्ट गार्ड के नाते इसने एक भरोसेमंद बल के तौर पर स्थापित किया है। कोस्ट गार्ड न केवल हमारे तटों की रक्षा करता है बल्कि समुद्री पर्यावरण , आर्थिक गतिविधियों औऱ विशेष आर्थिक क्षेत्रों की चोकसी भी करता है। मौजूदा प्रतिकूल माहौल के बावजूद गोवा शिपयार्ड और हजीरा स्थित एल एड टी शिपयार्ड के प्रयासों की सराहना करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि इससे इनकी पेशेवर दक्षता का पता चलता है।

इस मौके पर कोस्ट गार्ड के महानिदेशक के नटराजन ने कहा कि कोस्ट गार्ड के पोतों के बेडें में एक और पोत के जुड़ जाने से भारतीय कोस्ट गार्ड की गश्ती क्षमता में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ देश की लड़ाई में कोस्ट गार्ड अपना योगदाना करता रहेगा।

Comments

Most Popular

To Top