CRPF

…जब आतंकियों पर कहर बनकर टूट पड़ीं CRPF की संतो देवी

सीआरपीएफ अधिकारी संतो देवी

श्रीनगर। स्कूटी से उतरते ही फिरन पहने आतंकियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की टुकड़ी पर जैसे ही फायर किया तो जवान रमेश रंजन की सिर पर गोली लगी उन्होंने तुरंत राइफल संभाली और गिरते-गिरते एक आतंकी को निशाना बना डाला। इसी बीच सीआरपीएफ की सेकंड इंचार्ज संतो देवी दहशतगर्दों पर लेडी सिंघम बनकर टूट पड़ीं। हालांकि इस ऑपरेशन के दौरान सीआरपीएफ के जवान रमेश रंजन शहीद हो गए।





जांबाज महिला अधिकारी संतो देवी ने एक अखबार से बातचीत करते हुए कहा कि हमारी बटालियन का नाका था। इस बात के इनपुट थे कि इधर कुछ आतंकी बारामुला से घुस सकते हैं। नाके पर स्कूटी पर 03 लोग बिना हेलमेट के आते दिखे, रोकने पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद टीम ने मोर्चा संभाल लिया और फायरिंग में स्कूटी चला रहा आतंकी गंभीर रूप से घायल हो गया और 02 मौके पर ही ढेर कर दिए गए। उन्होंने कहा कि घायल आतंकी को जवानों ने थोड़ी दूर पर पकड़ लिया और अस्पताल ले गए।

बता दें कि संतो देवी पिछले 33 वर्षों से सीआरपीएफ में तैनात है और वह हरियाणा की रहने वाली हैं। उनके अनुसार इस पूरे ऑपरेशन को शुरू होने और खत्म होने में 10 मिनट का समय लगा। वह इसे जीवन का सबसे कठिन ऑपरेशन मानती हैं।

Comments

Most Popular

To Top