BSF

सीमा पर गहन निगरानी के लिए BSF करेगा अत्याधुनिक सेंसर का इस्तेमाल

बीएसएफ
फाइल फोटो

नई दिल्ली। सीमा सुरक्षा बल (BSF) सीमा पर गहन निगरानी के लिए नौ अलग-अलग अत्याधुनिक किस्म के सेंसर का इस्तेमाल करने जा रहा है। इसका उपयोग घुसपैठ का पता लगाने के लिए होगा। एक अखबार में प्रकाशित खबर के मुताबिक BSF का कहना है कि सभी तरह के जरूरी उपकरणों की खरीद की जा रही है, जिससे सीमा पर सुरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने में मदद मिले। सीमा प्रबंधन व्यवस्था के अन्तर्गत सीमा पर आधुनिक तरीके से निगरानी तंत्र विकसित करने का प्रयास हो रहा है।





BSF के सूत्रों ने कहा कि कई लेवल पर तैयारी चल रही है। ड्रोन के अलावा स्पेस तकनीकी की मदद से निगरानी के अलावा अत्याधुनिक उपकरणों की संख्या बढ़ाई गई है। ऐसे सेंसर सीमा पर लगाए जा रहे हैं जो पानी और जमीन के अंदर की गतिविधियों को भी भांप सकें। इससे छोटे-छोटे नालों व सुरंग का प्रयोग करके सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश करने वाले आतंकवादियों को रोका जा सके।

ऑप्टिकल थर्मल इमेजर के अलावा कई अन्य तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। सुरक्षा बल के सूत्रों ने कहा कि कई इलाकों में जमीन मुलायम है। कई जगहों पर नाले है तो कई जगहों पर जंगल। एक ही तकनीक हर जगह पर फिट नहीं हो सकती है। इसलिए समेकित व्यवस्था में अलग-अलग तरह के थर्मल इमेजर व सेंसर का इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

बीएसएफ की तरफ से गृह मंत्रालय को प्रस्ताव भेजकर अत्याधुनिक उपकरणों की खरीद करने को कहा गया है। बीएसएफ पर जमीनी घुसपैठ रोकने के अलावा हवा में संदिग्ध गतिविधियों को फौरन जवाब देने के मद्देनजर सक्षम हो इसके लिए एयर डिफेंस गन की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। सूत्रों के मुताबिक अत्याधुनिक एडी गन डेढ़ हजार मीटर की ऊंचाई तक निशाना साधने में सक्षम है।

Comments

Most Popular

To Top