BSF

सीमा पर प्रहरी और छात्राओं में प्रेरक की भूमिका में तनुश्री

बीएसएफ असिस्टेंट कमांडेंट तनुश्री पारीख

नई दिल्ली। फिरोजपुर (पंजाब) सीमा पर बीएसएफ में ग्राउंड ड्यूटी पर तैनात अकेली महिला ऑफिसर सहायक कमांडेंट तनुश्री पारीख सुरक्षा बल के लिए स्टार ब्रांड अंबेसडर बन गईं हैं। तनुश्री अपने फर्ज के साथ-साथ लड़कियों को सुरक्षा बल में आने के लिए भी प्रेरित कर रही हैं।





तनुश्री 22 अक्टूबर को शहीदों की याद में सीमा सुरक्षा बल द्वारा आयोजित हाफ मैराथन में भागीदारी के लिए कॉलेजों में जाकर छात्राओं को प्रेरित कर रही हैं। वह छात्रों से अकसर सुरक्षा बल का हिस्सा बनने की अपील करती हैं। लड़कियों के बीच से आ रहे अच्छे फीडबैक को देखते हुए सुरक्षा बल ने उन्हें कई कॉलेजों में प्रेरक भूमिका में भेजने का मन बनाया है।

तनुश्री अभी तक ऐसी अकेली महिला ऑफिसर हैं जिन्हें सीमा पर ग्राउंड ड्यूटी में तैनात किया गया है। एक अन्य महिला अधिकारी अभी प्रशिक्षण ले रही हैं।

असिस्टेंट कमांडेंट तनुश्री

  • तनुश्री पारीक राजस्थान में बीकानेर की रहने वाली हैं। वह बताती हैं कि उन्हें बचपन से ही सेना में जाने की ललक थी और स्कूल टाइम में उन्होंने एनसीसी में हिस्सा लिया था।
  • तनुश्री ने टेकनपुर स्थित सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) अकादमी में आयोजित पासिंग आउट परेड में देश की पहली महिला अधिकारी (असिस्टेंट कमांडेंट) के रूप में हिस्सा लिया।
  • उन्होंने बीएसएफ अकादमी में अधिकारियों के 40वें बैच में बतौर सहायक कमांटेंड 52 हफ्तों का प्रशिक्षण लिया था।
  • वह एनसीसी में रही और फिर उसे गृह जिले बीकानेर में ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान का ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया।

Comments

Most Popular

To Top