Others

यूपी सरकार की बड़ी कार्रवाई, 16 दागदार अफसरों को दी अनिवार्य सेवानिवृत्ति

लखनऊ।  यूपी  सरकार इन दिनों दागदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई में जुटी है। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा ऐसे अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप अथवा अन्य मामले में जांच चल रही है।





16 दागदार अधिकारियों के खिलाफ हुई कार्रवाई 

प्रदेश सरकार ने गुरुवार को इस संबंध में 50 साल से अधिक उम्र के 16 दागदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जबरन रिटायर कर दिया है। इन अधिकारियों में तीन डीएसपी, व्यापार कर विभाग के पांच अधिकारी एवं शिक्षा विभाग के बीएसए स्तर के आठ अधिकारी शामिल हैं। इन सभी पर भ्रष्टाचार के आरोप थे तथा विभिन्न मामलों में जांच चल रही थी।

प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) के तीन अफसरों में डीएसपी केश करन सिंह, कमल यादव व श्योराज सिंह को अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने का गुरुवार को  आदेश जारी किये गए। प्रदेश सरकार ने वाणिज्य कर विभाग की ओर से नामांकित  किए गए पांच अफसरों में एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-2 केशव लाल, ज्वाइंट कमिश्नर डॉ. अनिल कुमार अग्रवाल, ज्वाइंट कमिश्नर हरीराम चौरसिया, डिप्टी कमिश्नर कौशलेश व असिस्टेंट कमिश्नर इंद्रजीत यादव शामिल हैं।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक केशव लाल के खिलाफ आय से ज्यादा संपत्ति जमा करने के आरोप भी रहे हैं।

रक्षक न्यूज की राय:

उत्तर प्रदेश में 16 दागदार अफसरों को जबरन रिटायर करने से ब्यूरोक्रेसी में एक स्पष्ट संदेश जाएगा कि मनमानी, कोताही और भ्रष्ट आचरण नहीं चलने। कदम सराहनीय है, आगे भी यह सिलसिला जारी रहना चाहिए, तभी सुधार की गुंजाइश तय होगी।

Comments

Most Popular

To Top