Sports

इक्वेस्ट्रियन फेडरेशन ऑफ इंडिया 12-15 नवंबर के बीच FEI का कर रहा है आयोजन

एफईआईई वेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन
फाइल फोटो

नई दिल्ली। एफईआईई वेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन 12-15 नवंबर को दिल्ली कैंट के आर्मी पोलो और राइडिंग सेंटर (एपीआरसी) में किया जाएगा। आयोजन में तीन विषयों ड्रेसेज, क्रॉस-कंट्री और शो जंपिंग टेस्ट होगा। न्यूनतम पेनाल्टी वाला एथलीट अपने संबंधित वर्ग यानी वन स्टार इंट्रो और टू स्टार शॉर्ट का विजेता होता है।





यह टूर्नामेंट चार दिन आयोजित किया जाएगा। पहले दिन पशु चिकित्सा संबंधी निरीक्षण, दूसरे दिन ड्रेसेज टेस्ट, तीसरे दिन क्रॉस-कंट्री टेस्ट और आखिरी दिन शो जंपिंग टेस्ट आयोजित किया जाएगा।

ड्रेसेज टेस्ट 60 मीटर x 20 मीटर के एक क्षेत्र में अखाड़े के बाहर मार्कर से निर्धारित दूरी पर आयोजित किया जाता है। घुड़सवार संयोजन में टेस्ट में दिए गए अनुक्रम के अनुसार विभिन्न गतिविधियों जैसे हाल्ट, वॉक, ट्रॉट, कैंटर आदि में प्रदर्शन करना होता है। हरे एक गतिविधियों के लिए 10 अंक रखा गया है और प्रत्येक जज के कुल औसत को अंतिम ड्रेसेज स्कोर में गिना जाता है जिसे प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जाता है।

अगले दिन घुड़ और सवार संयोजन के लिए क्रॉस-कंट्री आयोजित की जाती है जिसमें एक निश्चित समय सीमा के भीतर पूर्व निर्धारित बाधाओं के साथ एक निर्दिष्ट लंबाई को पूरा करना होता है। पहली बार किसी भी चूक पर 20 पेनल्टी और इसी तरह के दूसरी छलांग चूक पर 40 पेनल्टी लगता है। एक ही बाधा पर तीसरी चूक से बाहर हो जाता है। सवार या सवार / घोड़े के संयोजन के गिरने से बाहर हो जाता है।

कार्यक्रम का अंतिम और अंतिम चरण शो जंपिंग है जो 60 मीटर x 40 मीटर के शो जंपिंग क्षेत्र में आयोजित किया जाता है। प्रत्येक ड्रॉप / चूक के लिए 4 प्वाइंट पेनल्टी लगाए जाते हैं और तीसरे चूक पर संयोजन बाहर हो जाता है।

सभी तीन टेस्टों का कुल स्कोर अंतिम नतीजे तय करते हैं। ईएफआई को युवा मामले और खेल मंत्रालय (एफवाईएएस) द्वारा ‘प्राथमिकता’ खेल के रूप में वर्गीकृत किया गया है क्योंकि भारतीय टीम ने  साल 2018 एशियाई खेलों में व्यक्तिगत और टीम रजत जीता था। पारंपरिक रूप से ईवेंटिंग अनुशासन भारत की ताकत रही है जिसमें पिछले एशियाई खेलों में अधिकतम पदक जीते गए हैं।

भारत में इन एफईआई स्तर की घटनाओं की शुरुआत चीन में आयोजित होने वाले 2022 एशियाई खेलों की तैयारी का हिस्सा है। करीब 50 प्रमुख सवार और 60 घोड़ों के जीत के लिए जबर्दस्त प्रतियोगिता में भाग लेने और प्रतिस्पर्धा करने की संभावना है।

Comments

Most Popular

To Top