Others

भारत ने श्रीलंका के हवाई अड्डे में दिलचस्पी दिखाई

नई दिल्ली। भारत सरकार ने श्रीलंका के मत्ताला राजपक्षे अंतर्राष्ट्रीय विमान पत्तन का विकास करने में दिलचस्पी दिखाई है। श्रीलंका के परिवहन और नागरिक उड्डयन मंत्री निमल श्रीपाला द्वारा प्रस्तुत कैबिनेट पेपर में कहा गया है कि भारत ने इस आशय का प्रस्ताव मई 2017 में दिया था। इस प्रस्ताव के अनुसार भारत सरकार या उसकी प्रतिनिधि किसी संस्था और श्रीलंका सरकार या उसकी किसी संस्था के बीच एक संयुक्त उपक्रम की स्थापना की जा सकती है, जो इस हवाई अड्डे का संचालन करेगा। इसकी आय को 40 साल तक 70:30 के अनुपात से बाँटा जा सकता है।





भारत ने इस केवल व्यावसायिक एविएशन, विमानों के रख-रखाव, ओवरहॉलिंग और फ्लाइंग स्कूल चलाने में ही दिलचस्पी नहीं दिखाई है, बल्कि हवाई अड्डे को ऑपरेट, मैनेज, मेंटेन और डेवलप करने में भी दिलचस्पी जाहिर की है। भारत इस काम के लिए 20.5 करोड़ डॉलर की इक्विटी राशि के रूप में देने को तैयार है। शेष 8.8 करोड़ डॉलर की राशि श्रीलंका सरकार देगी। इस प्रकार इस हवाई अड्डे के मूल्य का आकलन 29.3 करोड़ डॉलर किया गया है।

श्रीलंका के परिवहन और नागरिक उड्डयन मंत्री ने कैबिनेट से इस प्रस्ताव का अध्ययन करने का अनुरोध किया है। दिसंबर 2016 में श्रीलंका सरकार ने इस हवाई अड्डे को पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के आधार पर विकसित करने के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) जारी किया था। तब से आठ पार्टियाँ अपने प्रस्ताव भेज चुकी हैं। इनमें भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण भी एक है।

Comments

Most Popular

To Top