Others

मालेगांव: 9 साल जेल में रहने के बाद पुरोहित को जमानत

कर्नल पुरोहित

नई दिल्ली। मालेगांव ब्लास्ट मामले के आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है। इस मामले में अन्य अभियुक्त साध्वी प्रज्ञा को बॉम्बे हाई कोर्ट ने अप्रैल में जमानत दे दी थी। बॉम्बे हाईकोर्ट ने अप्रैल में ले. कर्नल पुरोहित की जमानत याचिका नामंजूर कर दी थी। इसके बाद पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दाखिल की थी।





न्यायमूर्ति आरके अग्रवाल और न्यायमूर्ति एएम सप्रे की पीठ ने यह फैसला सुनाया। ले. कर्नल पुरोहित का पक्ष प्रसिद्ध वकील हरीश साल्वे ने रखा। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) पुरोहित को बेल देने का विरोध कर रही थी। एनआईए ने बॉम्बे हाईकोर्ट का फैसला बरकरार रखने के पक्ष में दलील दी।

क्या है मालेगांव ब्लास्ट केस?

वर्ष 2008 में सितंबर महीने की 29 तारीख को महाराष्ट्र के मालेगांव के अंजुमन चौक और भीकू चौक बम  धमाकों में सात लोगों की मौत हो गई थी और 101 लोग घायल हुए थे। इस मामले में साध्वी प्रज्ञा सिहं और लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित आरोपी बनाए गए थे।

Comments

Most Popular

To Top