Others

आजाद हिंद फौज के सिपाही को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई

चेतराम-आजाद

रेवाड़ी। आजाद हिंद फौज के सिपाही और स्वतंत्रता सेनानी चेतराम आजाद को सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के सिपाही चेतराम आजाद का रविवार की रात को निधन हो गया था। वे 102 वर्ष के थे। बताया जाता है कि बावल क्षेत्र के वे अंतिम स्वतंत्रता सेनानी थे जो अब तक जीवित थे।





देश की आजादी के लिए लड़ने वाले चेतराम आजाद को सैकड़ों की संख्या में लोगों ने नम आंखों से विदाई दी। प्रशासन की तरफ से तहसीलदार मनीष कुमार यादव, डीएसपी गजेंद्र कुमार ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। उनके सम्मान में पुलिस टुकड़ी ने हवा में फायर और बिगुल बजाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

स्वतंत्रता सेनानी चेतराम के बेटे जागेराम के मुताबिक उनके पिता देश की आजादी के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद फौज में शामिल हो गए। अंग्रेजों के खिलाफ उन्होंने सिंगापुर, मलाया से लेकर बर्मा तक कई जगह लड़ाई लड़ी। अंग्रेजी हुकुमत की यातनाएं झेली और जेल तक गए। वह बेहद निर्भीक और साहसी थे। इसलिए लोगों ने उन्हें आजाद की उपाधि दी।

Comments

Most Popular

To Top