Jails

टेरर फंडिंग: अलगाववादी नेता के साथ जेल में बदसलूकी

अलगाववादी नेता शब्बीर शाह

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को पटियाला हाउस कोर्ट के जेल में दूसरे कैदियों ने घेरा। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने तुरंत शब्बीर शाह को दूसरी जगह शिफ्ट किया।





हवाला मामले में शब्बीर शाह पर केस चल रहा है। न्यायिक हिरासत खत्म होने के बाद दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में उनकी पेशी थी। इस दौरान जब शाह को कोर्ट के लॉकअप में लाया गया तो वहां मौजूद कैदियों ने उनसे गाली-गलौच की।

टेरर फंडिंग पर कैदियों में गुस्सा

एक अखबार के अनुसार, जेल में बंद दूसरे कैदी आतंकियों की फंडिंग को लेकर शब्बीर शाह से नाराज हो रहे थे। आतंकियों को फंड देने को लेकर ही शब्बीर शाह से बदसलूकी की गई। जेल में हंगामे के बाद पुलिस जवान वहां पहुंचे और शब्बीर शाह को बाहर निकाला गया। इसके बाद शब्बीर को अलग कमरे में रखा गया।

इससे पहले अदालत में सुनवाई के दौरान ईडी के वकील ने शब्बीर शाह को भारत माता की जय बोलने के लिए कहा था। जिस पर कोर्ट ने ईडी के वकील को ये कहते हुए चुप करा दिया था कि ये कोर्ट रूम है, टीवी स्टूडियो नहीं।

न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ी

वहीं कोर्ट ने शब्बीर शाह की न्यायिक हिरासत 31 अगस्त तक बढ़ा दी है। उन्हें 25 जुलाई को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने पहली सुनवाई में शब्बीर को 7 दिन की रिमांड पर भी भेजा था।

क्या था पूरा मामला ? 

दरअसल, अगस्त 2005 में दिल्ली पुलिस सेल ने असलम वानी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया था। असलम पर हवाला स्कैम से जुड़े होने का आरोप था। आरोप था कि असलम ने शब्बीर शाह को अलग-अलग वक्त पर कुल 2.25 करोड़ रुपये दिए। जिसके बाद ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत शब्बीर शाह और असलम वानी के खिलाफ मामला दर्ज किया। वानी 63 लाख की नकदी के साथ गिरफ्तार करने का दावा किया गया था। पुलिस के मुताबिक दावा किया गया कि वानी के पास ये पैसा हवाला के माध्यम से मध्य एशिया से आया था।

Comments

Most Popular

To Top