International

अमेरिका ने उ. कोरिया को चेताया- ‘सभी विकल्प खुले’

ट्रंप और किम जोंग उन

वाशिंगटन। उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनातनी फिर बढ़ रही है। तनातनी बढ़ने की वजह है उत्तर कोरिया का नया मिसाइल परीक्षण। उत्तर कोरिया ने तमाम धमकियों को नजरंदाज करते हुए मिसाइल का परीक्षण किया जो जापान के ऊपर से होती हुई प्रशांत महासागर में गिरी। उत्तर कोरिया की इस हिमाकत को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गंभीरता से लेते हुए साफ शब्दों में कहा है कि उत्तर कोरिया के खिलाफ सभी विकल्प खुले हैं।





अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि प्योंगयांग (उत्तर कोरिया) अपने पड़ोसियों और संयुक्त राष्ट्र के तमाम सदस्यों की अवमानना कर रहा है और यह स्वीकार्य नहीं है। ट्रंप ने चेताते हुए कहा कि धमकियों और अस्थिर कार्रवाई से उत्तर कोरिया अलग-थलग पड़ जायेगा।

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से उत्तर कोरिया लगातार मिसाइलों के परीक्षण कर रहा है। इस साल अब तक वह 13 मिसाइल परीक्षण कर चुका है। जुलाई में उसने इंटरकॉंटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण करने के साथ-साथ धमकी भी दी थी कि अमेरिकी उसकी मिसाइलों की जद में है। अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच जुबानी जंग पिछले कुछ समय से और तेज हो गई है।

उत्तर कोरिया ने तो गुआम द्वीप पर हमले की बात भी कह दी थी। अमेरिका ने भी उत्तर कोरिया को नतीजे भुगतने की चेतावनी दी थी। हालांकि बाद में उत्तर कोरिया गुआम पर हमले की बात से पीछे हट गया था। उत्तर कोरिया के इस कदम का अमेरिका ने स्वागत किया था। उस वक्त लगा था कि दोनों देशों के बीच तनातनी कुछ कम होगी लेकिन दक्षिण कोरिया और अमेरिका के संयुक्त युद्धाभ्यास को मुद्दा बनाकर उत्तर कोरिया फिर आक्रामक तेवर दिखाने लगा है।

Comments

Most Popular

To Top