International

पाकिस्तान को 4.5 हजार करोड़ की मदद देने की तैयारी में अमेरिका

US-congress

वाशिंगटन। आतंकी देशों के खिलाफ लड़ाई का दम भरने वाले अमेरिका ने पाकिस्तान को 4.5 हजार करोड़ रुपये की मदद करने का ऐलान किया है। पाकिस्तान को ये रकम अफगानिस्तान में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को लेकर मिलेगी। हालांकि, रक्षामंत्री जेम्स मैटिस की हामी के बगैर ये पैकेज जारी नहीं किया जा सकता। अमेरिकी कांग्रेस के मुताबिक अगर मैटिस इस पैकेज पर मुहर नहीं लगाते हैं तो पाकिस्तान को किसी तरह का फंड नहीं दिया जाएगा। कुछ ही दिनों पहले एक अमेरिकी संगठन वर्ल्ड मुहाजिर कांग्रेस ने अमेरिका से पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद रोकने की अपील की थी।





संगठन के अनुसार 4.5 हजार करोड़ में से आधी रकम पाकिस्तान को उसी सूरत में दी जाएगी जब खुद मैटिस इन तथ्यों को मान लेंगे कि हक्कानी और लश्कर-ए-तैयबा जैसे संगठनों के खिलाफ पाकिस्तान बेहतर तरीके से लड़ रहा है। इसके अलावा मैटिस को खुद साबित करना होगा कि पाकिस्तान अपनी जमीन को आतंकियों का सुरक्षित शेल्टर बनने से रोक पाया है। इतना ही नहीं मैटिस को ये भी घोषणा करनी होगी कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान के साथ मिलकर बॉर्डर पर मौजूद हक्कानी और लश्कर के आतंकियों पर कार्रवाई करने का काम कर रहा है।

कांग्रेस के मुताबिक जरूरत पड़ने का अमेरिका पाकिस्तान को दिए फंड पर नजर भी रख सकता है ताकि फंड का किसी भी तरह से गलत इस्तेमाल न हो सके।

पड़ोसियों की मदद के बगैर अफगानिस्तान में शांति नामुमकिन

अफगानिस्तान में मौजूद नाटो के सीनियर सिवीलियन रिप्रेजेंटेटिव कॉर्नेलियस जिमरमैन के मुताबिक बिना पड़ोसियों की मदद के अफगानिस्तान में शांति बहाल करना बेहद कठिन काम है। इसलिए सभी पड़ोसी देशों को अफगानिस्तान की मदद के लिए आगे आना चाहिए। अफगानिस्तान के कार्यकारी रक्षा मंत्री तारिक शाह बहरामी ने कहा कि इस प्रस्ताव के बाद पाकिस्तान पर आतंकियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने के लिए और ज्यादा दबाव होगा। अफगानिस्तान में अमेरिकी एंबेसी के स्पेशल ऑफिसर ह्यूगो लोरेंस ने देश से तालिबान और दूसरे आतंकी संगठनों को खत्म करने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जताई है।

Comments

Most Popular

To Top