International

स्पेशल रिपोर्ट: ट्रम्प ने भारत-चीन में बीचबचाव करने की पेशकश की

राष्ट्रपति ट्रंप
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा पर गत 22 दिनों से चल रही सैन्य तनातनी को दूर करने के लिये अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पेशकश की है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बुधवार शाम तक इस प्रस्ताव पर कोई टिप्पणी नहीं की है।





अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने ताजा ट्वीट में इस आशय की जानकारी दी है। ट्रम्प ने कहा है कि उन्होंने भारत और चीन दोनों को सूचित कर दिया है कि वह भारत और चीन के बीच मध्यस्थता करने को तैयार हैं। गौरलतब है कि इसके पहले अमेरिकी विदेश विभाग की एक आला अधिकारी एलिस वेल्स ने भी सीमा मसले पर टिप्पणी करते हुए भारत का पक्ष लिया था और कहा था कि चीन भारत के सीमांत इलाकों पर तनाव पैदा कर रहा है।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने इसके पहले भारत और पाकिस्तान के विवादों को दूर करने के लिये मध्यस्था करने की पेशकश की थी जिसे भारत ने मंजूर नहीं किया था। चीन के साथ भी ताजा विवाद में न तो चीन और न ही भारत अमेरिकी बीचबचाव को स्वीकार करने को तैयार होगा। ट्रम्प का बयान अमेरिका और चीन के बीच कोरोना महामारी को लेकर चल रही तनातनी के मद्देनजर काफी रोचक है। कोरोना को लेकर अमेरिका ओर चीन के बीच रिश्तों में पहले ही तनाव पैदा हो चुका है।

Comments

Most Popular

To Top