International

Special Report: भारतीय छात्रों को छात्रवृति देगा ताइवान

ताइवान का झंडा

 नई दिल्ली। ताइवान ने भारतीय छात्रों को आकर्षक छात्रवृत्ति की पेशकश की है।  यहां ताइवानी   आर्थिक और सांस्कृतिक केन्द्र ( टीईसीसी ) के एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ताइवान विदेश में पढ़ाई चाहने वाले भारतीय छात्रों का एक प्रमुख गंतव्य स्थल बनता जा रहा है।  इसकी मुख्य वजह  दुनिया के शीर्ष 500 शिखऱ विश्वविद्यालयों में ताइवान के 11 विश्वविद्यालयों के नाम शामिल हो चुके  हैं।





इसके अलावा ताइवान का शिक्षा मंत्रालय भारतीय छात्रों को आकर्षक छात्रवृति की पेशकश करता है। छात्रवृति प्रदान करने की मुख्य वजह  भारतीय छत्रों को ताइवान में स्नातक शिक्षा हासिल करने के लिये प्रेरित करना है ताकि वे ताइवान के अकादमिक माहौल से अवगत हो सकें। ये छात्रवृतियां केवल भारतीयों ही नहीं श्रीलंका,  भूटान ,बांग्लादेश  और नेपाल के छात्रों को भी दी जाती है।

ताइवान का शिक्षा मंत्रालय दो तरह की छात्रवृतियां प्रदान करता है। पहला है एमओई  ह्वायू (चाइनीज)  एनरिचमेंट स्कालरशिप  और दूसरा  एमओई ताइवान स्कालरशिप।  ताइवान शिक्षा मंत्रालय  स्कालरशिप  के तहत  हर छात्र को ट्यूटन और एकेडमिक फीस के लिये 1331 डॉलर,  और स्नातक पढ़ाई के लिये  मासिक 499 डॉलर और स्नातकोत्तर छात्रों के लिये  665 डालर मासिक देता है।

 दूसरी ओर ह्वायू स्कालरशिप के तहत छात्रों को मासिक 832 डालर दिया जाता  है।  इसके तहत ताइवान में चीनी भाषा की पढाई के लिये प्रोत्साहित किया जाता है।  ताइवान शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक ताइवान में साल 2018 में 1.2 लाख विदेशी छात्र पढाई कर  रहे थे जिसमें से 2938 छात्र भारतीय थे। ये ताइवान में मास्टर या पीएचडी डिग्री की पढ़ाई कर रहे हैं। गौरतलब है कि साल 2003 में केवल पांच भारतीय छात्र ही ताइवान में थे। ताइवान स्कालरशिप की आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है औऱ इसकी अंतिम तारीख  31 मार्च है।  इसके लिये आवेदन www.roc-taiwan.org/in  वेबसाइट पर किया जा सकता है।

Comments

Most Popular

To Top