International

स्पेशल रिपोर्ट: रूस ने कहा- परमाणु हथियारों की संख्या स्थिर करे अमेरिका

पुतिन और डोनाल्ड ट्रंप
फाइल फोटो

नई दिल्ली। परमाणु हथियारों और मिसाइलों की संख्या मौजूदा स्तर पर सीमित कर इसे एक साल तक स्थिर रखने का रूस ने अमेरिका से प्रस्ताव किया है। यह प्रस्ताव सामरिक अस्त्र परिसीमन संधि (स्टार्ट) के बारे में है। इस पर दोनों महाशक्तियों के बीच संधि शीतयुद्ध का दौर समाप्त होने के बाद हुई थी।





रूस ने इस आशय का प्रस्ताव रूस से गत 16 अक्टूबर को किया था लेकिन अमेरिकी प्रशासन की ओर से इसका कोई जवाब नहीं मिलने के बाद रूस ने फिर 20 अक्टूबर को इस बारे में अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि रूस अगले साल के दौरान दोनों देशों द्वारा भंडार में रखे गए परमाणु हथियारों की संख्या को मौजूदा स्तर पर सीमित रखने का प्रस्ताव दुहरा रहा है।

रूसी विदेश मंत्रालय द्वारा यहां उपलब्ध कराए गए बयान के मुताबिक रूस ने अमेरिका से कहा है कि रुस यह प्रस्ताव इस आधार पर रख रहा है कि अमेरिका रुस से इस बारे में कोई नई मांग नहीं करेगा।

रूसी बयान के मुताबिक यदि अमेरिका इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लेता है तो इस दौरान जो वक्त मिलेगा उसका इस्तेमाल दोनों देश परमाणु हथियारों और मिसाइलों की भविष्य में कोई निश्चित संख्या तय करने को लेकर समग्रता में एक संधि की जा सकती है। इस नई संधि में सामरिक स्थिरता के मद्देनजर सभी पहलुओं को ध्यान में रखा जाना चाहिये। रूस ने अमेरिका से कहा है कि वह गत 16 अक्टूबर को रूस द्वारा पेश प्रस्ताव के जवाब की प्रतीक्षा कर रहा है।

Comments

Most Popular

To Top