International

स्पेशल रिपोर्ट: पाकिस्तानी सैनिकों को आतंकी संगठन जैश ने मरवाया

पाकिस्तानी सेना के जवान

नई दिल्ली। तीन जुलाई की शाम को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार छंब सेक्टर में 06 पाकिस्तानी सैनिकों का  बारूदी सुरंग फटने से  मारा जाना काफी रहस्यमय हो गया है।





पाकिस्तानी सेना ने खुद इस वारदात की जानकारी दी है लेकिन पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने इस घटना के लिये भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराया है। पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि यह राज्य द्वारा प्रोयोजित आतंकवाद है।

लेकिन यहां सैन्य सूत्रों ने कहा है कि पाकिस्तानी सैनिकों पर यह हमला जैश-ए-मोहम्मद के लोगों ने करवाया। वे पाकिस्तानी सेना से इस बात के लिये नाराज थे कि  पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों को बंद किये जाने से नाराज थे।

यहां सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान सरकार अंतरराष्ट्रीय दबाव में अस्थायी तौर पर कुछ आतंकी शिविरों को बंद करवा रही है ताकि उसे आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई कर रहे अंतरराष्ट्रीय संगठन  फाइनेनशियल एक्शऩ टास्क फोर्स की नाराजगी का शिकार नहीं होना पड़े । इस टास्क फोर्स ने पाकिस्तान से कहा है कि  अपनी धरती से संचालित सभी आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करे और उनके आतंकवादी शिविरों को बंद करने के साथ-साथ उनके बैंक खातों को सील कर दे। टास्क फोर्स ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है कि यदि उसने आतंकवादी संगठनों के खिलाफ जरूरी कदम नहीं उठाए तो पाकिस्तान को  टास्क फोर्स की काली सूची में डाल दी जाएगी।

पाकिस्तान फिलहाल टास्क फोर्स की ग्रे लिस्ट में है और उसे यदि ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया तो पाकिस्तान की आर्थिक मुसीबतें काफी ब़ढ़ जाएंगी। टास्क फोर्स ने पाकिस्तान से 28 जरुरी कदम उठाने को कहा है औऱ कहा है कि सितम्बर में होने वाली टास्क फोर्स की बैठक में इसकी पूरी जानकारी दे।

सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान इसीलिये घबराया हुआ है औऱ वह अपनी सेना द्वारा पाले पोसे गए आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने को मजूबर हो रहा है।

गौरतलब है कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को हाल में ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया है। पाकिस्तान ने इसका घोर विरोध किया था लेकिन उसके साथी देश चीन ने भी जब हाथ खींच लिया तो पाकिस्तान को झुकना पड़ा।

Comments

Most Popular

To Top