International

Special report: पाक ने सार्क कोष में नहीं किया योगदान

पाक पीएम इमरान खान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। गत 15 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के सदस्य देशों के साथ शिखर वीडियो सम्मेलन किया था। इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस से संयुक्त तौर पर निबटने के लिये एक करोड डालर के शुरुआती योगदान से एक कोष की स्थापना का ऐलान किया था।





इस कोष में पाकिस्तान को छोड़ कर बाकी सदस्य देशों ने अपनी क्षमता के मुताबिक योगदान किया है  लेकिन पाकिस्तान ने इसमें कोई योगदान नहीं किया। इस कोष में  श्रीलंका ने 50 लाख डालर, बांग्लादेश ने 15 लाख डालर, नेपाल ने दस लाख डालर, अफगानिस्तान ने दस लाख डालर, भूटान ने एक लाख डालर और मालदीव ने दो लाख डालर का योगदान कर दिया है। इस तरह सार्क कोष में अब तक एक करोड़ 83 लाख डालर इकट्ठा हो चुके हैं।

इस कोष के तहत सार्क के सदस्य देशों को कोरोना के इलाज में काम आने वाले जरुरी चिकित्सा सामग्री की सप्लाई भी सदस्य देशों के आग्रह पर की जाने लगी है।  गौरतलब  है कि सार्क देशों में कोरोना वायरस के मामले बढते ही जा रहे हैं और पाकिस्तान भी इससे बुरी तरह प्रभावित हो रहा है।

सार्क देशों में कोरोना से निबटने के लिये  गांधीनगर सार्क आपदा  प्रबंध केन्द्र ने इस इरादे से एक खास वेबसाइट बनाई है। इसके जरिये सार्क देशों के बीच जरुरी सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा रहा है और आपसी मदद की प्रक्रिया तय की जा रही है। इस वेबसाइट में कोरोना से निबटने के लिये आनलाइन ट्रेनिंग कैप्सूल भी पेश  किये गए हैं।  भारत का मानना है कि  इस तरह के आपसी सहयोग  से सार्क देश और निकट आएंगे।

Comments

Most Popular

To Top