International

स्पेशल रिपोर्ट: ब्रिटिश पनडुब्बी में 30 से अधिक नौसैनिक को कोरोना

ब्रिटिश पनडुब्बी में कोरोना
फाइल फोटो

नई दिल्ली। ब्रिटेन की शाही नौसेना की एचएमएस विगिलेंट परमाणु पनडुब्बी में तीस से अधिक नौसैनिक कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। बताया जाता है कि ब्रिटेन की पनडुब्बी अमेरिका के ईस्ट कोस्ट स्थित पनडुब्बी अड्डे का दौरा कर लोटी है।





जानकारों के मुताबिक ब्रिटिश पनडुब्बी कर्मियों को वहीं कोरोना का संक्रमण हुआ है। गौरतलब है कि कोरोना का संक्रमण दुनिया में सर्वाधिक अमेरिका में ही हुआ है।

एक अमेरिकी नौसैनिक अधिकारी ने ब्रिटिश मीडिया की उक्त आशय़ की रिपोर्टो की पुष्टि की है। अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि ब्रिटिश नोसैनिकों ने दूरी बनाए रखने के नियमों का उल्लंघन किया और कोरोना पाजिटिव हो गए। ब्रिटिश नौसैनिक जार्जिया स्थित सबमेरीन अड्डा किंग्स बे से बाहर निकले और दो सौ मील दूर फ्लोरिडा तक चले गए।

उल्लेखनीय है कि जार्जिया में कोरोना के 3,18,000 मरीज हैं और वहां इससे अब तक 7,282 मौतें हो चुकी हैं। रहा। फ्लोरिडा अमेरिका का तीसरा सर्वाधिक कोरोना प्रभावित राज्य है और वहां करीब साढे सात लाख कोरोना मरीज हैं। ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि रायल नेवी पनडुब्बी संचालन पर टिप्पणी नहीं करता है। एचएमएस विगिलेंट ब्रिटेन की 04 परमाणु पनडुब्बियों में एक है। हालांकि ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय अपना खुद का पनडुब्बी बेडा रखता है लेकिन किंग्स बे पर अमेरिका और ब्रिटेन का साझा बेडा संचालित होता है। गौरतलब है कि साल 2017 में विगिलेंट पनडुब्बी से नौ पनडुब्बी कर्मियों को सेवा मुक्त कर दिया गया था जब उनके पास से मादक पदार्थ कोकेन बरामद हुआ था।

Comments

Most Popular

To Top