International

स्पेशल रिपोर्ट : भारतीय वायुसेना का विमान चीन रवाना

फाइल फोटो

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से ग्रस्त चीन के ऊहान शहर में फंसे भारतीयों को निकालने और वहां राहत सामग्री पहुंचाने के लिये भारतीय वायुसेना का ग्लोबमास्टर परिवहन विमान बुधवार को चीन रवाना हो गया।





यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस परिवहन विमान पर 15 टन मेडिकल सामग्री लादी गई है जिसमें मास्क, ग्लोव्स और अन्य आपात मेडिकल  उपकरण व सामग्री शामिल है। प्रवक्ता ने बताया कि चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप से निबटने  में मदद देने के इरादे से भारत से मेडिकल सामग्री भेजी गई है। चीन ने  मास्क और मेडिकल उपकरण भेजने का आग्रह किया था।

कोरोना वायरस से निबटने के लिये चीन सरकार द्वारा किये गए प्रयासों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी चिन फिंग को गत आठ फरबरी को पत्र लिखा था। ऐसे संकट के वक्त चीन के साथ सहानुभुति जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि संकट के  ऐसे दौर  में भारत सरकार और भारत की जनता चीन के साथ है।  भारत से जो मेडिकल सप्लाई भेजी गई है  वह चीनी प्रयासों में मदद पहुंचाएगी।

प्रवक्ता ने कहा कि भारत से भेजी गई मदद भारत चीन राजनयिक  रिश्तों की स्थापना की 70 वीं सालगिरह में दोस्ती का प्रतीक है। प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय वायुसेना का विमान चीन के ऊहान शहर में फंसे भारतीय छात्रों के अलावा भारत के पडोसी देशों के छात्रों को भी वापस लाएगा।  प्रवक्ता ने कहा कि यह प्रधानमंत्री मोदी की पडोसी पहले नीति के अनुरुप है।

Comments

Most Popular

To Top