International

स्पेशल रिपोर्ट: कश्मीर मसले पर भारत ने तुर्की से जताया कड़ा विरोध

प्रवक्ता रवीश कुमार

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर मसले पर तुर्की के राष्ट्रपति के हाल के बयानों पर भारत ने कड़ा विरोध जाहिर किया है। विदेश मंत्रालय  में सचिव (पश्चिम) ने यहां तुर्की के राजदूत को बुलाकर कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है औऱ इसमें तुर्की किसी तरह का दखल नहीं दे।





यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने  बताया कि तुर्की के राष्ट्रपति ने जिस तरह भारत के अंदरुनी मामलों में दखल दिया है वह भारत को स्वीकार नहीं है। गौरतलब है कि तुर्की के राष्ट्रपति ने हाल के पाकिस्तान दौरे में  जम्मू कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ तीखी टिप्पणी की है।  प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति अर्दवां ने जो टिप्पणी की है वह न तो इतिहास की झलक दिखाती है औऱ न ही कूटनीति के आचरण के अनुरुप है। तुर्की के राष्ट्रपति ने जो कुछ कहा है वह पिछली घटनाओं को विकृत रुप देती हैं और  मौजूदा घटनाक्रम पर तंग विचारों का प्रतिबिम्ब हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि हाल का वाकया तुर्की द्वारा भारत के अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप की एक और मिसाल है। इन घटनाक्रम का भारत के साथ दिवपक्षीय रिश्तों पर  काफी प्रतिकूल  असर पड़ेगा।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को भारतीय संविधान से जोड़ने वाले  अस्थायी अनुच्छेद- 370 को भारत द्वारा निरस्त किये जाने  पर तुर्की ने  कड़ी टिप्पणी की थी। उन्होंने जम्मू कश्मीर में मानवाधिकारों के कथित हनन का मामला भी उठाया था।

Comments

Most Popular

To Top