International

Special Report: वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत शांति के लिए प्रतिबद्ध

भारत-चीन सीमा
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों के दौरान भारत चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा (LaC) पर सैनिकों के बीच हुई धक्कामुक्की और पत्थरबाजी की घटनाओं पर यहां विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति व स्थिरता बनाए रखने के लिये प्रतिबद्ध है।





सिकिक्म और लद्दाख की सीमा पर धक्कामुक्की और पत्थरबाजी की हाल की घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति व स्थिरता बनाए रखने की प्रतिबद्धता से भारत बंधा हुआ है। भारत इसके उद्देश्यों को हासिल करने के लिये हमेशा तत्पर है। पत्थऱबाजी और धक्कामुक्की की घटनाओं का सीधा जिक्र करने से बचते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि भारत इसके लिये कोशिशें करता रहेगा। दोनों देशों के शिखऱ नेताओं ने चीन के ऊहान और चेन्नई की बैठकों के दौरान उक्त आशय़ की प्रतिबद्धता दुहराई है। दोनों देशों के शिखऱ नेताओं ने परस्पर तालमेल से शांति व स्थिरता बनाए रखने पर सहमति दी है।

प्रवक्ता ने कहा कि भारत औऱ चीन की वास्तविक नियंत्रण रेखा का निर्धारण नहीं हुआ है इसलिये दोनों देशों द्वारा वास्तविक सीमा को लेकर भ्रम की स्शिति रहती है जिस वजह से सीमा पर अक्सर घटनाएं हो जाती है लेकिन इसे स्थानीय स्तर पर परस्पर बातचीत से सुलझा लिया जाता है। इसके लिये सीमा पर ऐसी घटनाओं के बाद बॉर्डर पर्सनल मीटिंग होती है। गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच अरुणाचल प्रदेश से लेकर लद्दाख के इलाके तक 3,488 किलोमीटर लम्बी वास्तविक नियंत्रण रेखा है जिसका सीमा समझौता नहीं होने की वजह से पक्का निर्धारण नहीं हुआ है।

Comments

Most Popular

To Top