International

स्पेशल रिपोर्ट: भारत और यूरोपीय संघ गहरी करेंगे सामरिक साझेदारी

यूरोपीय यूनियन के लीडरों के साथ पीएम
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और यूरोप ने कोविड-19 महामारी के बाद की दुनिया में बदलते विश्व राजनीतिक समीकरण के बीच अपनी सामरिक दोस्ती को और गहरी करने के लिये नये कदमों के बारे में चर्चा की है।





भारत और यूरोपीय संघ के बीच आयोजित विदेश नीति और सुरक्षा सलाह मशविरा की बैठक में दोनों देशों के आला राजनयिकों ने दोनों देशों के बीच बढ़े हुए राजनीतिक आदान-प्रदान और सम्पर्कों पर संतोष जाहिर किया। यह वीडियो बैठक वर्चुअल आयोजित हुई। इस बैठक में भारत की अगुवाई विदेश मंत्रालय में सचिव(पश्चिम) विकास स्वरूप और यूरोपीय संघ की ओर से राजनीतिक मामलों के डिप्टी सेक्रेटरी जनरल एनरिक मोरा ने की। विदेश नीति और सुरक्षा मामलों की दोनों पक्षों की यह सातवीं बैठक थी। इस बैठक में दोनों पक्षों ने आपसी हितों के मसलों के अलावा क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर भी गहन चर्चा की।

कोविड महामारी से निपट लेने के बाद की दुनिया में दोनों पक्ष स्वास्थ्य से लेकर भरोसेमंद सप्लाई चेन खडा करने के बारे में विस्तार से विचारों का आदान प्रदान किया। विश्व अर्थव्यवस्था को फिर पटरी पर लाने की कोशिशों की अहमियत पर दोनों पक्षों ने बल दिया। दोनों पक्ष इस प्रस्ताव पर सहमत हुए कि व्यापार और निवेश के क्षेत्र में आपसी सहमति विकसित करने के लिये निकट भविष्य में उच्चस्तरीय बैठक करेंगे। दोनों पक्षों ने साइबर सुरक्षा और कृत्रिम बुद्धि के क्षेत्रों में भी परस्पर सहयोग करने के बारें में भी चर्चा की।

Comments

Most Popular

To Top