International

Special Report: भारत और यूरोपीय संघ ने चीन पर की बात

भारत और यूरोपीय संघ
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और यूरोपीय संघ के बीच आगामी 15 वीं शिखर बैठक वीडियो के जरिये होगी। इस शिखर बैठक के आयोजन पर चर्चा करने के लिये यूरोपीय संघ के सुरक्षा और विदेशी मामलों के उच्च प्रतिनिधि और वाइस प्रेजिडेंट जोसेफ बोरेल ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से वीडियो काल के जरिये बात की। यह शिखर बैठक गत मार्च महीने में होनी थी लेकिन कोरोना महामारी की वजह से स्थगित कर दी गई थी।





गौरतलब है कि यूरोपीय संघ 27 यूरोपीय देशों का संगठन है। यहां यूरोपीय संघ के प्रवक्ता ने बताया कि दोनों नेताओं ने वीडियो कांफ्रेंस के दौरान आपसी सम्बन्धों के अलावा चीन,ईरान और अफघानिस्तान के अलावा विदेश नीति से जुडे अन्य मसलों पर बातचीत की । समझा जाता है कि कोरोना महामारी को लेकर चीन के रुख और चीन की हाल की आक्रामक नीतियों पर भी इस दौरान दोनों के बीच बातचीत हुई है।

गौरतलब हे कि कुछ दिनों पहले ही यूरोपीय संघ के प्रेजिडेंटकी भारतीय प्रधानमंत्री से फोन पर बातचीत हुई थी। दोनों देशों ने इस शिखर बैठक की तिथि घोषित नहीं की है लेकिन उम्मीद की जा रही है कि जून के मध्य तक शिखर बैठक वीडियो कांफ्रेंस के जरिये होगी।

दोनों नेताओं ने कोरोना महामारी से फैली तबाही औऱ इससे निबटने के साझा उपायों पर भी बातचीत की। दोनो ने कहा कि इस महामारी से निबटने के लिये एक प्रभावी वैश्विक सामाजिक आर्थिक योजना की जरुरत है। कोरोना महामारी की वजह से यूरोपीय संघ के भारत में फंसे 11 हजार यूरोपीय पर्यटकों को वापस भेजने में मदद के लिये जोसेफ बैरेल ने भारतीय विदेश मंत्री को धन्यवाद दिया। कोरोना महामारी से निबटने के लिये जरुरी मेडिकल सप्लाई और विश्व व्यापार और सप्लाई चेन खुला रखने की जरुरत पर बल दिया। दोनों ने कहा कि मौजूदा कोरोना महामारी की वजह से भारत और यूरोपीय संघ के बीच सहयोग और साझेदारी के रिश्तों की अहमियत और बढ गई है।

Comments

Most Popular

To Top