International

Special Report: भारत और चीन सीमा वार्ता 21 दिसंबर को

अजीत डोभाल
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत औऱ चीन के बीच सीमा विवाद के मसलों को हल करने के लिये  वार्ता की तिथियों का विदेश मंत्रालय ने काफी अटकलों के बाद  ऐलान कर दिया है।





21 दिसम्बर को होने वाली  इस वार्ता के लिये मुम्बई और आगरा को स्थल बनाने पर गहन विचार चल रहा था लेकिन अंततः राजधानी नई दिल्ली में ही ये वार्ता करने पर सहमति बनी। यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यह जानकारी देते हुए कहा कि  सीमा मसले पर दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों की वार्ता का 22वां दौर नई दिल्ली में होगा।

यह बातचीत भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल औऱ चीन के स्टेट काउंसेलर और विदेश मंत्री वांग ई के बीच होगी। दोनों देशों के शिखर नेताओं के बीच गत अक्टूबर में चैन्नई में हुई दूसरी अऩौपचारिक शिखर बैठक के बाद सीमा वार्ता का होना काफी अहम है।

 हालांकि इस सीमा वार्ता को दोनों देशों के राजनयिक हलकों में औपचारिकता निभाने की कवायद कही जा रही है लेकिन इन सीमा वार्ताओं का होना काफी अहम है क्योंकि इनकी वजह से दोनों देशों के बीच संवाद का सिलसिला बना रहता है। इन सीमा वार्ताओं की वजह से चार हजार किलोमीटर लम्बी विवादास्पद सीमा पर तैनात हजारों सैनिकों के बीच परस्पर भरोसा औऱ विश्वास का माहौल भी बना रहता है जिससे सीमा पर शांति व स्थिरता बनाए रखने के लिये विश्वास निर्माण के उपाय तय किये जाते हैं।

Comments

Most Popular

To Top