International

स्पेशल रिपोर्ट: ईरान का अहम दौरा करेंगे विदेश मंत्री जयशंकर

ईरानी राष्ट्रपति और विदेश मंत्री जयशंकर

नई दिल्ली। अमेरिका के साथ टू प्लस टू वार्ता करने के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर का ईरान का अहम दौरा होगा। गौरतलब है कि ईरान पर अमेरिका ने कई तरह के प्रतिबंध लगाए हुए हैं और ईरान से व्यापारिक रिश्ते रखने वाले देशों के खिलाफ भी प्रतिबंध लगाता है।





 22 और 23 दिसम्बर को विदेश  मंत्री ईरान दौरे में भारत ईरान संयुक्त आयोग की बैठक की सहअध्यक्षता ईऱानी विदेश मंत्री के साथ करेंगे। इसके बाद वह ईऱानी राष्ट्रपति रुहानी से भी मिलेंगे। ईरान के बाद विदेश मंत्री 23 से 25 दिसम्बर तक ओमान का भी दौरा करेंगे।

भारत में नागरिकता कानून को लेकर चल रहे विवाद और इस पर अंतरराष्ट्रीय निगाह की वजह से विदेश मंत्री का ईरान और ओमान दौरा काफी अहम होगा। वहां वह भारत के नागरिकता कानून को लेकर सफाई देंगें।

विदेश मंत्री के ईरान दौरे के पहले यहां ईरान के चाबाहार बंदरगाह के संचालन और वहां से व्यापारिक आदान-प्रदान को लेकर तीन साल पहले एक समझौता हुआ था। इस समझौते के तहत तीनों देशों के विदेश मंत्रालयों के संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारियों की अहम बैठक में बंदरगाह के संचालन औऱ प्रगति को लेकर समीक्षा की गई।

विदेश मंत्री जयशंकर के अमेरिका दौरे में अमेरिकी अधिकारियों के साथ भारत ईरान रिश्तों के अलावा चाबाहार बंदरगाह को लेकर भी चर्चा हुई थी। इस दौरान अमेरिकी अधिकारियों ने चाबाहार बंदरगाह से अफगानिस्तान को होने वाले लाभों की सराहना की थी।

गौरतलब है कि  ईऱान से भारत के व्यापारिक सम्बन्धों को लेकर अमेरिका एतराज करता रहा है औऱ वहां से खनिज तेल के आयात को  लेकर भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधात्मक कदमों के मद्देनजर ईरानी तेल का आयात रोक दिया है।

Comments

Most Popular

To Top