International

स्पेशल रिपोर्ट: यूरोपीय संघ भारत के साथ करेगा सामरिक साझेदारी मजबूत

राजदूत अस्तुतो और राष्ट्रपति कोविंद

नई दिल्ली। 28 यूरोपीय देशों के संगठऩ यूरोपीय संघ के भारत में नियुक्त राजदूत यूगो अस्तुतो ने कहा है कि दुनिया की दो सबसे मजबूत जनतांत्रिक ताकतों यूरोपीय यूनियन औऱ  भारत के बीच  सामरिक साझेदारी के रिश्तों को और मजबूत करेंगे।





राजदूत अस्तुतो ने यहां अपने पद का परिचय पत्र भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पेश करते हुए कहा कि  अगले कुछ दिनों में उनका लक्ष्य  भारत के साथ स्थापित सामरिक साझेदारी के रिश्तों को और मजबूत करना औऱ सहयोग का दायरा बढ़ाना है।  हम पर्यावरण बदलाव जैसी दुनिया की चुनौतियों का मिलकर मुकाबला करने के लिये अपने सहयोग को औऱ मजबूत करेंगे।

गौरतलब है कि यूरोपीय यूनियन औऱ भारत ने  दीर्घकाल से चल रहे सौहार्दपूर्ण रिश्तों को और मजबूत बनाने के लिये 2004 में रिश्तों का स्तर ऊंचा कर सामरिक साझेदारी का कर लिया था। यह रिश्ता साझा लक्ष्यों औऱ सिद्धांतों के आधार पर विकसित हो रहा है।

यूरोपीय यूनियन और भारत के बीच गहरे व्यापारिक औऱ निवेश के रिश्ते हैं।  दोनों विकसित औऱ विकासशील देशों के संगठऩ जी-20 के सदस्य हैं जहां दोनों पक्ष  विश्व आर्थिक एजेंडा तय करने में  आपसी तालमेल करते हैं।  यूरोपीय संघ भारत के साथ स्मार्ट सिटी , स्वच्छ गंगा आदि कई अहम परियोजनाओं में परस्पर सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पर्यावऱण बदलाव के खिलाफ लडाई दोनों पक्षों की साझा प्राथमिकता है।  राजदूत ने कहा कि यूरोपीय संघ ने एशिया के साथ सम्पर्क बनाने के लिये  रणनीति बनाई है औऱ भारत इसका एक अहम हिस्सा है।

Comments

Most Popular

To Top