International

Special Report: भारतीय छात्रों के लिए अमेरिका पहली पसंद

एयरोनॉटिक्स के छात्र
फाइल फोटो

नई दिल्ली। विदेशों मे पढ़ाई के लिये भारतीय छात्रों की पहली पसंद अमेरिका बना हुआ है। अमेरिका में पिछले साल दो लाख से अधिक भारतीय छात्र पढ़ाई करने गए। 2019-20 के अकादमिक सत्र के लिये अमेरिका में 10 लाख से अधिक छात्रों में 20 प्रतिशत से अधिक छात्र भारत के थे।





अमेरिका की ओपन डोर्स रिपोर्ट के मुताबिक स्नातक पूर्व पाठ्यक्रम के लिये भारतीय छात्रों की संख्या निरंतर बढ़ती गई है। अमेरिकी दूतावास के पब्लिक अफेयर्स मिनिस्टर काउंसेलर डेविड केनेडी के मुताबिक पिछले 10 सालों में अमेरिका में भारतीय छात्रों की संख्या में दोगुना बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि इसकी वजह यह है कि अमेरिका विश्व स्तरीय शिक्षा का गोल्ड स्टैंडर्ड बना हुआ है। अमेरिकी शिक्षण व्यवस्था विश्व अर्थव्यवस्था में लाभ की स्थिति प्रदान करती है।

भारतीय छात्रों की मदद के लिये अमेरिकी विदेश विभाग ने भारत में सात स्थानों पर सलाह केन्द्र खोले हैं। ये केन्द्र हैं- नई दिल्ली, हैदराबाद,चेन्नई, कोलकाता, बैंगलुरु, अहमदाबाद और मुम्बई। सभी केन्द्रों में अमेरिकी शिक्षा के सलाहकार हैं। इनसे अमेरिकी शिक्षण संस्थाओं के बारे में नवीनतम जानकारी मिलती है। अमेरिकी शिक्षण संस्थाओं के बारे में अधिक जानकारी के लिये भारतीय छात्र एजुकेशन यूएसए इंडिया ऐप खोल सकते हैं। इससे अमेरिका में उच्च शिक्षा के बारे में जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी।

Comments

Most Popular

To Top