International

Special Report: कोरोना से मिलकर निपटने की मोदी की अपील का 4 पड़ोसी देशों ने किया स्वागत

भूटान के प्रधानमंत्री डा. लोटे
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अपने ट्वीट संदेश में कोरोना वायरस से निपटने के लिये दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के सदस्य देशों के साथ मिलकर रणनीति बना कर लड़ने की पेशकश का पाकिस्तान को छोड़ कर चार अन्य सदस्य देशों ने स्वागत किया है।





गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने बयान में कहा था कि अपने नागरिकों को स्वस्थ रखने के लिये हम वीडियो सम्मेलन के जरिये इस मसले पर विचार कर सकते हैं। मोदी ने कहा कि हम साथ मिलकर दुनिया के सामने एक मिसाल पेश कर सकते हैं कि हम एक स्वस्थ पृथ्वी के लिये अपना योगदान मिल कर सकते हैं। इसके लिये सार्क देशों के बीच एक मजबूत रणनीति होनी चाहिये।

पाकिस्तान की ओर से प्रधानमंत्री मोदी की इस पेशकश पर कोई जवाब नहीं आया है लेकिन नेपाल, मालदीव, श्रीलंका और भूटान के राष्ट्रप्रमुखों ने इसका स्वागत करते हुए त्वरित टिप्पणी की है। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने ट्वीटर पर अपने संदेश में प्रधानमंत्री मोदी को इस पहल के लिये धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि वह सार्क के सदस्य देशों के बीच अपने अनुभव बांटने को तैयार हैं। गोतबाया ने कहा कि हम इस कठिन वक्त में अपने नागरिकों को सुरक्षित रखने के लिये एकजुट हों।

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहीम मोहम्मद सोलेह ने भी कोविड-19 से मुकाबला के लिये साझी रणनीति अपनाने की पेशकश का स्वागत किया और धन्यवाद देते हुए कहा कि कोविड-19 से मुकाबला करने के लिये सामूहिक कोशिश करनी होगी। उन्होंने कहा कि मालदीव इस प्रस्ताव का स्वागत करता है औऱ किसी भी क्षेत्रीय प्रयास का पूरा समर्थन करेगा।

नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने प्रधानमंत्री मोदी की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि उनकी सरकार सार्क के सदस्य देशों के साथ मिलकर कोरोना वायरस की चुनौतियों से मिलकर मुकाबला करने के लिये तैयार हैं ताकि हम अपने नागरिकों को इस जानलेवा बीमारी से बचा सकें।

भूटान के प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट संदेश में प्रधानमंत्री मोदी की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि इसे ही हम नेतृत्व गुण कहते हैं। ऐसे मौके पर हम सभी देशों को साथ आना होगा। इन वजहों से छोटी अर्थव्यवस्थाओं को सबसे अधिक नुकसान होता है। उन्होंने कहा कि उन्हें कोई शक नही है कि हम इसका तात्कालिक सकारात्मक नतीजा देखेंगे। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में वीडियो कांफ्रेंस की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

Comments

Most Popular

To Top