International

Special Report: स्वदेश लौटना चाहते हैं 2.59 लाख भारतीय

ईरान से भारत लाए गए 44 लोग
फाइल फोटो

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से 98 देशों में 2.59 लाख भारतीय फंसे हैं जिन्होंने भारत लौटने के लिये अपना पंजीकरण करवाया है। ‘वंदे भारत मिशन’ के तीसरे चरण में इन भारतीयों को स्वदेश लाने का वृहद अभियान चलाया जाएगा।





यहां विदेश मंत्रालय के प्रवकता अनुराग श्रीवास्तव ने वंदे भारत मिशन के तहत भारतीयों को स्वदेश लाने की योजना की जानकारी देते हुए बताया कि वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 13 जून तक चलेगा । इसके जरिये अब तक गत 15 दिनों में 23,475 भारतीयों को स्वदेश लाया जा सका है। इनमें विशेष जरूरतमंदों को प्राथमिकता के तौर पर भारत के लिये उडानों में शामिल किया गया। इन भारतीयों में 4196 भारतीय छात्र हैं जबकि 3,187 पेशेवर लोग हैं। 16,990 भारतीयों को आपात मेडिकल सहायता की जरुरत थी। ब्रिटेन के लिये तीन उड़ानें जा चुकी हैं जब कि अमेरिका के लिये दो और विमान भेजे जा रहे हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि भारतीयों को स्वदेश लाने के लिये प्राइवेट एयरनाइंसों की सेवाएं भी ली जा सकती हैं। इस पर विचार किया जा रहा है। स्वदेश लौट रहे भारतीयों को कड़े स्वास्थ्य मानकों का पालन करना होता है। उड़ान के पहले यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की जाती है।

Comments

Most Popular

To Top