International

‘हम शांति चाहते हैं पर भारत हमें सीरियस नहीं लेता’

पाक आर्मी चीफ

कराची। पाकिस्तान का कहना है कि वह दोनों देशों में अमन चाहता है लेकिन भारत उसे गंभीरता से नहीं लेता है। पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने दावा किया है कि उनका देश भारत के साथ सामान्य और शांतिपूर्ण संबंध बनाना चाहता है। उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए भारत को भी आगे आना होगा। बाजवा ने यह बयान उस वक्त दिया जब उनसे दोनों देशों के खराब रिश्तों के बारे में सवाल पूछे गए। बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच काफी समय से कोई वार्ता नहीं हुए है।





‘भारत एक लड़ाकू देश है’

कराची में आयोजित सेमिनार ‘इंटरप्ले ऑफ इकोनॉमी एंड सिक्योरिटी’ विषय पर बोलते हुए कहा कि हमारे बाहरी मोर्चे पर लगातार परिवर्तन हो रहा है। जनरल बाजवा ने भारत पर निशाना साधते हुए कहा- भारत एक लड़ाकू देश है। पूर्व में भारत आक्रामक है और पश्चिम में एक अस्थिर अफगानिस्तान के साथ, यह इलाका नकारात्मक प्रतिस्पर्धा की वजह से बंधक बना हुआ है। जनरल बाजवा ने कहा कि अफगानिस्तान की सीमा पर शांति के लिए हम राजनीतिक, सैन्य और आर्थिक लेवल पर प्रयास कर रहे हैं। FATA इसका सबसे बड़ी मिसाल है, इससे अफगानिस्तान में मानव सुरक्षा को असाधारण बढ़ावा मिला है।

2015 के बाद से पाकिस्तान से बातचीत बंद

भारत ने पाकिस्तान को साफ कर दिया है कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देता रहेगा, उसके साथ किसी भी तरह की बातचीत नहीं होगी। वर्ष 2015 में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पाकिस्तान के दौरे पर गई थीं। उसके बाद पाकिस्तान की तरफ से पठानकोट समेत कई आतंकी हमले भारत में किए गए। हमले के बाद से ही दोनों देशों के बीच किसी भी तरह की कोई बातचीत दर्ज नहीं की गई है। हालांकि बीच में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के बुलावे पर अचानक ही अफगानिस्तान से होते हुए लाहौर पहुंच गए थे।

Comments

Most Popular

To Top