International

कुलभूषण जाधव से जेल में मिलने जाएंगी उनकी पत्नी, पाकिस्तान ने दी इजाजत

कुलभूषण जाधव

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव की पत्नी को उनसे मुलाकात की इजाजत दे दी है। कुलभूषण कथित जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद है और जासूसी के मामले में मृत्युदंड की सजा सुनाई गई है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी प्रेस रिलीज में ये कहा गया है कि पाकिस्तानी सरकार ने कुलभूषण जाधव की पत्नी को उनसे मिलने की इजाजत देने का फैसला किया है। भारत ने कुछ महीने पहले जाधव की मां को मुलाकात के लिए वीसा देने का आग्रह किया था।





पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने एक बयान में कहा कि पाकिस्तान ने कमांडर कुलभूषण जाधव की उनकी पत्नी से मुलाकात कराने का फैसला किया है। यह मानवीय आधार पर लिया गया फैसला है। इस आशय का ‘नोट वर्बल’ (अनौचारिक व बगैर हस्ताक्षर का राजनयिक पत्र) शुक्रवार को इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त को भेजा गया है।

मो. फैजल ने कहा कि यह मुलाकात पाकिस्तान की सरजमीं पर ही होगी। फांसी की सजा पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने अप्रैल में सुनाई थी और जाधव को जासूसी व आतंकवाद के आरोप में मृत्युदंड की सजा दी थी। मई में भारत यह केस अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में ले गया, जिसमें कोर्ट ने फांसी पर रोक लगा दी।

भारत ने जाधव से भारतीय राजनयिक की मुलाकात का कई बार आग्रह किया था पर पाकिस्तान ने उसे हर बार नकार दिया। उसने कहा कि जासूसी से जुड़े मामले में ऐसी मुलाकात की इजाजत नहीं दी जा सकती। फिलहाल, जाधव ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के समक्ष दया याचिका भी दायर की है, जिस पर फैसला अब तक लंबित है। पाकिस्तान का दावा है कि जाधव को पिछले साल 3 मार्च को ब्लूचिस्तान प्रांत से गिरफ्तार किया गया था। वह कथित तौर पर ईरान से वहां दाखिल हुए थे। हालांकि भारत का कहना है कि वह नौसेना से रिटायर होने के बाद वह ईरान में व्यापार करते थे और जाधव को वहीं से अपहृत कर लाया गया था।

 

Comments

Most Popular

To Top