International

परमाणु हथियार के लिए पाकिस्तान का ‘सीक्रेट कॉम्पलेक्स’

सीक्रेट कॉम्पलेक्स में पकिस्तान ने छिपा रखा है परमाणु हथियारों का जखीरा,

वाशिंगटन। पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियारों को छिपाने के लिए एक सीक्रेट कॉम्प्लेक्स बनाया है। अमेरिका के एक गैर सरकारी संस्थान ‘इंस्टीट्यूट फॅार साइंस एंड इंटरनेशनल सेक्युरिटी’  के अनुसार पाकिस्तान ने बलूचिस्तान में सुदूर पहाड़ी इलाकों में ऐसा भूमिगत परिसर बनाया है जिसका इस्तेमाल परमाणु आयुधों के भंडारण के लिए किया जा सकता है। इस परिसर में बैलिस्टिक मिसाइल भी रखी जा सकती हैं। संस्थान ने अमेरिकी सैटेलाइट से प्राप्त तस्वीरों और जांच के आधार पर यह दावा किया है। उपग्रह द्वारा भेजे गए चित्रों से इस अंडरग्राउंड परिसरों वाले इस स्थान का पता चला है।





बलूचिस्तान में बनाया अंडरग्राउंड कॉम्प्लेक्स

उपग्रह द्वारा भेजे गए चित्रों की जांच के बाद यह बात सामने आई है कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान में पूरी तरह सुरक्षित अंडरग्राउंड परिसरों वाले एक स्थान का पता चला है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि दक्षिण पश्चिम प्रांत में यह अंडरग्राउंड परिसर बैलेस्टिक मिसाइल और परमाणु आयुध भंडारण स्थान के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। हालांकि अभी तक इस परिसर के बनाए जाने के बारे में ये बात सामने नहीं आई है कि सीक्रेट कॉम्प्लेक्स को किस उद्देश्य से निर्मित किया गया है।

भारत को ध्यान में रखकर किया गया निर्माण

संस्थान के विशेषग्य डेविड अल्ब्राइट, सारा बुरखार्ड, एलिसन लैक और फ्रैंक पैबिन द्वारा तैयार इस रिपोर्ट के मुताबिक, भूमिगत (अंडरग्राउंड) परिसर का इस्तेमाल एक बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु हथियारों का भंडारण करने के लिए किया जा सकता है,  ताकि पाकिस्तान जरूरत पड़ने पर शीघ्रता से अपने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल कर सके।’ रिपोर्ट में यह भी जिक्र किया गया है कि भारत और अंतरराष्ट्रीय सीमा को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स का निर्माण किया है।’ साथ ही इस रिपोर्ट में ब्लूचिस्तान में जारी अशांति का भी जिक्र किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top