International

‘न्यूक्लियर बम से 90 फीसदी को मौत की नींद सुला सकता है’

नॉर्थ-कोरिया

वाशिंगटन। अमेरिका खौफ में है। और खौफ की वजह है उत्तर कोरिया के आक्रामक तेवर। पिछले कुछ महीनों से एक के बाद एक परमाणु और मिसाइल परीक्षण कर उत्तर कोरिया ने अमेरिका और उसके मित्र राष्ट्रों को चिंतित कर रखा है। तमाम प्रतिबंधों और कोशिशों के बावजूद उत्तर कोरिया के परीक्षणों पर रोक नहीं लग पाई है। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों में अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच जुबानी जंग का जो दौर चला है उससे अब अमेरिकी संसद भी चिंतित है।





अमेरिकी कांग्रेस का आकलन है कि उत्तर कोरिया न्यूक्लियर EMP बम से हमलाकर 90 फीसदी अमेरिकियों को मौत की नींद सुला सकता है। अमेरिकियों विशेषज्ञों को लगता है कि उत्तर कोरिया अमेरिकियों को अंधेरे में डुबोने के लिए इलेक्ट्रॉनिक पावर ग्रिड पर हमला कर सकता है।

गुरुवार को ही उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हा ने अमेरिका को धमकी दी थी कि अमेरिका को आग के गोलों से कीमत चुकानी होगी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संयुक्त राष्ट्र में दिए गए भाषण को आधार बनाकर री योंग ने कहा था अमेरिका ने लड़ाई के बम की बाती सुलगा दी और अब उसे इसकी कीमत आग के गोलों से चुकानी होगी। री योंग ने शब्दों को दोहराते हुए कहा था कि हमें शब्दों से नहीं आग के गोले बरसाकर हिसाब बराबर करना है। माना जा रहा है कि उत्तर कोरिया ने पिछले कुछ समय में जो मिसाइल परीक्षण किए हैं वह EMP स्ट्राइक क्षमता बढ़ाने के लिए किए हैं। डेली मेल के मुताबिक उत्तर कोरिया के पास अमेरिका तक हमला करने वाली मिसाइलें हैं और इसकी वह बाकायदा घोषणा भी कर चुका है।

उत्तर कोरिया इस वर्ष अब तक 22 मिसाइलों का परीक्षण कर चुका है। उसने पिछले दिनों दो इंटरकॉंटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल भी दागी थीं जो जापान के ऊपर से गुजरी थीं।

Comments

Most Popular

To Top