International

मिसाइल टेस्ट सैन्य कार्रवाई का पहला कदम: उ. कोरिया

मिसाइल परीक्षण

प्योंगयांग। जापान के ऊपर से मिसाइल दागने को उत्तर कोरिया ने सैन्य कार्रवाई का पहला कदम बताया है। मंगलवार को उत्तर कोरिया ने एक मिसाइल दागी थी जो जापान के ऊपर से होते हुए प्रशांत महासागर में जा गिरी थी। उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग ने धमकाने वाले अंदाज में कहा है कि जापान के ऊपर से किया गया मिसाइल परीक्षण गुआम के लिए की गई तैयारी की झलक मात्र है। पिछले कुछ समय से किम जोंग गुआम पर हमले की बात कहते रहे हैं। उन्होंने प्रशांत महासागर में और मिसाइल परीक्षण की बात कहकर साफ कर दिया है कि उत्तर कोरिया पीछे हटने वाला नहीं है। प्रतिबंधों और आलोचनाओं के बावजूद उत्तर कोरिया लगातार परीक्षण कर रहा है। जैसा कि बुधवार को किम जोंग ने कहा भी कि उनके देश को और मिसाइल परीक्षण करने चाहिए ताकि उत्तर कोरिया की निर्भीक देश की छवि बरकरार रह सके।





उत्तर कोरिया के इस परीक्षण ने जापान की नींद उड़ा दी है। मंगलवार को उत्तर कोरिया की मिसाइल जापान के होकाइदो टापू के ऊपर से होकर गई थी। उसके बाद से जापान हाई अलर्ट पर है।

उत्तर कोरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी का कहना है कि मिसाइल टेस्ट के दौरान किम जोंग खुद वहां मौजूद थे। एजेंसी का यह भी कहना है कि हुआसॉन्ग-12 नामक मध्यम गति की यह वही मिसाइल है जिसे गुआम पर दागने की धमकी किम जोंग देता रहा है। उत्तर कोरियाई मिसाइल 2700 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए जापान के पूर्व तट से 1,180 किलोमीटर दूर जाकर गिरी।

मंगलवार को संयुक्त सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया की इस कार्रवाई को भड़काने वाली कार्रवाई बताते हुए इसकी निंदा की है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे ने भी तत्काल प्रतिक्रिया करते हुए उत्तर कोरिया की इस हिमाकत को जापान की सुऱक्षा के लिए गंभीर खतरा बताया था तथा कहा था कि वह अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए कदम उठाएंगे।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी इसे गंभीरता से लेते हुए साफ शब्दों में कहा है कि उत्तर कोरिया के खिलाफ सभी विकल्प खुले हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि प्योंगयांग (उत्तर कोरिया) अपने पड़ोसियों और संयुक्त राष्ट्र के तमाम सदस्यों की अवमानना कर रहा है और यह स्वीकार्य नहीं है। ट्रंप ने चेताते हुए कहा कि धमकियों और अस्थिर कार्रवाई से उत्तर कोरिया अलग-थलग पड़ जायेगा।

Comments

Most Popular

To Top