International

किम जोंग का भारी संख्या में मिसाइल बनाने का निर्देश

किम-जोंग-उन

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों की वजह से पैदा हुआ तनाव बढ़ता जा रहा है। इसकी मुख्य वजह है उत्तर कोरिया का फैसला। उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग ने आदेश दिया है कि रॉकेट इंजनों और आईसीबीएम (इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल) का और उत्पादन किया जाए।





उत्तर कोरिया की आधिकारिक सेन्ट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) के मुताबिक किम ने ‘केमिकल मैटीरियल इंस्टीट्युट ऑफ द अकेडमी ऑफ डिफेंस साइंस’ का दौरा किया और निर्देश दिया कि ठोस इंजन से चलने वाले और रॉकेट इंजन बनाए जायें। यह संस्थान मिसाइल बनाने का काम करता है।

किम जोंग के निर्देश से साफ है कि दुनिया के तमाम देशों की चिंताओं का उस पर कोई असर नहीं पड़ा है। गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में किम जोंग के निर्देश पर उत्तर कोरिया ने दो बार आईसीबीए का परीक्षण किया है।

इन परीक्षणों के बाद ही उत्तर कोरिया और अमेरिका में जुबानी जंग का सिलसिला चल निकला। उत्तर कोरिया ने दावा किया कि अमेरिका का बड़ा भू-भाग उसकी मिसाइलों की जद में आ गया है।

अमेरिका समेत कई देशों ने परीक्षण पर चिंता जताई। पर जब उत्तर कोरिया ने गुआम पर हमले की बात कही तो दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को नतीजे भुगतने की धमकी दे दी। जवाब में उत्तर कोरिया ने लोगों ने अमेरिका के खिलाफ रैली निकाल और कहा कि वे परमाणु बम बनकर अमेरिका पर गिर पड़ेंगे।

हालांकि बीच में किम जोंग का गुआम पर हमला टालने का बयान आया। डोनाल्ड ट्रंप ने बयान की तारीफ की तो लगा कि दोनों देशों के बीच तनातनी कम होगी। अब उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सैन्य अभ्यास पर सवाल उठाकर तथा मिसाइलों का उत्पादन बढ़ाने की बात कहकर माहौल फिर गरमा दिया है।

 

Comments

Most Popular

To Top