International

डोकलाम पर आ रही खबरों को सरकार ने गलत बताया

चीनी सैनिक

नई दिल्ली। डोकलाम में चीन की सेना की मौजूदगी और सड़क बनाने की खबरों को भारतीय विदेश मंत्रालय ने खारिज कर दिया है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हमने डोकलाम पर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स देखी हैं। 28 अगस्त के बाद से डोकलाम में विवादित भारत-चीन के बीच सैन्य तनातनी की जगह और इसके इर्दगिर्द के इलाको में कोई नया घटनाक्रम नहीं हुआ है। मंत्रालय के अनुसार इलाके में यथास्थिति कायम है। इसके विपरीत कुछ भी कहना गलत है।





मीडिया में खबरें थीं कि डोकलाम में भारत के साथ विवाद की जगह के पास चीन ने काफी संख्या में अपने सैनिकों को तैनात कर रखा है और एक मौजूदा सड़क को चौड़ा करने का कार्य भी आरंभ कर दिया है। यह सड़क टकराव वाले इलाके से करीब 12 किमी की दूरी पर है।

डोकलाम की चुंबी घाटी में चीनी सेना की बढ़ती मौजूदगी के संकेत भारतीय वायुसेना चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने भी दिए थे। उन्होंने कहा था कि भारत-चीन की सेना आमने-सामने नहीं है जैसा कि हमें लग रहा है, हालांकि चुंबी घाटी में चीन की सेना अब भी मौजूद है। मैं उम्मीद करता हूं कि वह इलाके में सैन्य अभ्यास खत्म होने के बाद अपनी सेना वहां से हटा लेंगे।

गौरतलब है कि 16 जून से 73 दिनों तक डोकलाम में भारत-चीन के बीच तनातनी कामय रहा था। इस तनातनी की शुरुआत तब हुई थी जब भारत ने चीनी सेना को एक विवादित इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया था। डोकलाम पर भूटान और चीन के बीच भी विवाद है। 28 अगस्त को खत्म हुए गतिरोध के जारी रहने की पूरी अवधि में भूटान और भारत एक-दूसरे के संपर्क में थे।

 

Comments

Most Popular

To Top