International

लद्दाख में सड़क निर्माण की मंजूरी पर तिलमिलाया ड्रैगन

भारत सरकार द्वारा लद्दाख सेक्टर में पेंगोंग झील के निकट सड़क बनाने की मंजूरी दी. है

बीजिंग। भारत सरकार द्वारा लद्दाख सेक्टर में पेंगोंग झील के निकट सड़क बनाने की मंजूरी देने के बाद चीन बौखला गया है। चीनी मीडिया के मुताबिक भारत ने सड़क बनाने की मंजूरी देकर अपने ही मुंह पर तमाचा जड़ा है। यही नहीं चीन ने धमकी भी दी है कि ऐसा करने से डोकलाम विवाद और बढ़ेगा। वहीं चीन का कहना है कि लद्दाख सेक्टर में जहां सड़क बनाने की योजना को मंजूरी दी गई है। वहां अभी तक सीमा का निर्धारण नहीं हुआ है।





‘भारत के कथनी और करनी में फर्क है’

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने भारत की इस सड़क परियोजना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि भारत की कार्रवाई से जाहिर होता है कि वह ‘कहता कुछ है और करता कुछ है’। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि सीमा से जुड़े कई मुद्दों पर भारतीय कार्रवाई में विरोधाभास दिखता है। उन्होंने कहा कि लद्दाख जैसे विवादित क्षेत्र में सड़क निर्माण से इलाके में शांति और सद्भाव बिगड़ेगा।

बॉर्डर पर सड़क निर्माण कार्य, 15 साल से अटकी है योजना

गृह मंत्रालय ने जिस सड़क के निर्माण को मंजूरी दी है वह पिछले 15 वर्षों से अटकी थी। जानकारों के मुताबिक कथित तौर पर लद्दाख के मर्सिमिक ला से हॉट स्प्रिंग तक एक सड़क निर्माण परियोजना को मंजूरी दी है। लद्दाख में मार्सिमिक ला पेंगोंग झील के उत्तरर-पश्चिमी सिरे से 20 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है। गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू कर दिया है।

गौरतलब है कि हाल ही में चीन व भारतीय जवानों के बीच इसी इलाके में पत्थरबाजी हुई थी। चीनी सैनिकों के पल-पल की गतिविधि पर पैनी नजर रखी जा सके, इसीलिए भारत सरकार ने यहां सड़क निर्माण की योजना को मंजूरी दी है।

Comments

Most Popular

To Top