International

जब इन विमानों ने आसमान से बरसाई थी ‘मौत’!

जर्मनी का लड़ाकू विमान

कहते है हवाई सेना किसी भी जंग का रुख बदल सकती है। आसमान में गरजते दुश्मन के जहाज किसी भी सेना के लिए शायद सबसे बुरे मंज़रों में से एक होगा। पहले विश्वयुद्ध में भी कुछ दमदार जहाजों ने दुश्मनों पर कहर बरपाया था। जर्मनी, यूके, फ्रांस निर्मित विमानों ने जंग को एक नए स्तर पर ले जा कर खड़ा कर दिया था। आज हम आपको उन्हीं में से कुछ ऐसे विमानों के बारे में बताएंगे जिन्होंने दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान आसमान पर राज कियाः





जर्मनी का FOKKER D. VII लड़ाकू जहाज़

जर्मनी का लड़ाकू जहाज़

जर्मनी का FOKKER D. VII लड़ाकू जहाज़ (प्रतीकात्मक)

Fokker D. VII  जर्मनी का पहले विश्वयुद्ध के समय का लड़ाकू विमान था। इसका डिज़ाइन Reinhold Platz ने तैयार किया था। Fokker D. VII ने पहली उड़ान जनवरी 1918  में भरी थी। 1918 के अंत तक 3,300 विमानों का निर्माण किया जा चूका था। ये विमान जर्मनी के मुख्य हमलावर श्रेणी के थे।

फ्रांस का बाईप्लेन लड़ाकू विमान SPAD S.XIII

फ्रांस का लड़ाकू विमान

फ्रांस का बाईप्लेन लड़ाकू विमान SPAD S.XIII (प्रतीकात्मक)

फ्रेंच SPAD S.XIII एक बाईप्लेन फाइटर एयरक्राफ्ट था। फ्रांस की सेना ने पहले विश्वयुद्ध में इस विमान का स्तेमाल किया था। SPAD S.XIII पहले विश्व युद्ध के सबसे सक्षम लड़ाकू विमानों में से एक था। सबसे बड़ी संख्या में निर्मित विमानों में से एक रहे SPAD S.XIII  के 8,472 मॉडल बनाए गए थे और तकरीबन 10,000 और बनाए जाने के आर्डर को बाद में रद्द कर दिया गया था।

ब्रिटेन का SOPWITH CAMEL लड़ाकू विमान

ब्रिटेन का लड़ाकू विमान

ब्रिटेन का SOPWITH CAMEL लड़ाकू विमान (प्रतीकात्मक)

1917 में पश्चिमी मोर्चों पर गरजने वाला Sopwith Camel ब्रिटेन का एक सिंगल सीट बाईप्लेन लड़ाकू विमान था। Sopwith Camel का निर्माण Sopwith Aviation Company ने किया था. सिंगल रोटरी इंजन और दो मशीन गन्स से लेस Sopwith Camel ने युद्ध के दौरान दुश्मन के सबसे ज्यादा, 1,294  विमानों को मार गिराया था।

इम्पीरियल जर्मन आर्मी एयर सर्विस की धार ‘ALBATROS D.III

इम्पीरियल जर्मन आर्मी का विमान

इम्पीरियल जर्मन आर्मी एयर सर्विस की धार ‘ALBATROS D.III’ (प्रतीकात्मक)

इम्पीरियल जर्मन आर्मी एयर सर्विस की धार माने जाने वाला Albatros D.III एक ऐसा विमान था जो पायलटों के बीच अपनी कुशल कलाबाजी, तीव्र नियंत्रण और उड़ान भरने की क्षमताओं को ले कर काफी लोकप्रिय था। 1917 में “ब्लडी अप्रैल” (आप इसे खूनी अप्रैल भी कह सकते हैं क्योंकि इस महीने में बहुत सारे लोग मारे गये थे।) के दौरान Albatros D.III का प्रमुखता से इस्तेमाल किया गया।

SOPWITH TRIPLANE  का तोड़ ‘Fokker Dr.I

Fokker Dr.I

SOPWITH TRIPLANE का तोड़ ‘Fokker Dr.I’ (प्रतीकात्मक)

सन 1917 के फरवरी महीने में Sopwith Triplane  ने पश्चिमी मोर्चों पर अपनी एक Vickers  मशीन गन के साथ ही Albatros लड़ाकू विमान को आपने सामने कमज़ोर साबित कर दिया था। एंथनी फोक्केर ने कब्जा किए गये एक Sopwith विमान के निरीक्षण के बाद Fokker Dr.I का निर्माण कार्य शुरू करवाया और बाद में ये विमान काफी असरदार भी साबित हुआ।

पहले विश्वयुद्ध में इसके अलावा अन्य कई विमानों ने भी अपनी मारक क्षमता दिखाई थी। आगे देखिए अन्य विमानों की दुर्लभ तस्वीरें-

ब्रिटेन का एवरो- 504 विमान 

ब्रिटेन का लड़ाकू विमान

ब्रिटेन का Avro 504

जर्मनी का गोथा बम्बर विमान

जर्मनी का लड़ाकू विमान

जर्मनी का Gotha Bomber (प्रातीकात्मक)

फ्रांस का न्यूपोर्ट- 17 विमान

फ्रांस का लड़ाकू विमान

फ्रांस का Nieuport 17 विमान

फ्रांस का न्यूपोर्ट- 28 विमान

फ्रांस का लड़ाकू विमान

फ्रांस का Nieuport 28 विमान

फ्रांस का न्यूपोर्ट डिलेज विमान

फ्रांस का लड़ाकू विमान

फ्रांस का Nieuport-Delage विमान

ब्रिटेन का सोपविथ स्नाइप 

ब्रिटेन का लड़ाकू विमान

ब्रिटेन का Sopwith Snipe विमान (प्रतीकात्मक)

Comments

Most Popular

To Top