International

मुशर्रफ का कबुलनामा- मैं हाफिज सईद और लश्कर-ए-तैयबा का सबसे बड़ा समर्थक

मुशर्रफ और सईद

पाकिस्तान का कोई बड़ा नेता हो या आर्मी चीफ जब बात भारत के खिलाफ रहती तो सब आतंकियों की ही भाषा बोलते हैं और दहशतगर्दों का समर्थन करते हैं। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ यह जानते हुए कि हाफिज सईद मुंबई हमले का गुनहगार है फिर भी कहते है- आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (LeT) प्रमुख हाफिद सईद मुझे पसंद है और LeT का सबसे बड़ा समर्थक हूं।





टीवी पर दिए इंटरव्यू में मुशर्रफ ने कहा कि आतंकी हाफिज सईद से मैं मिल चुका हूं। उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ मैं ही उन्हें पसंद नहीं करता बल्कि वह भी मुझे पसंद करते हैं। इंटरव्यू में कहा कि कश्मीर में भारतीय सेना को दबाने और एक्शन में रहने का सपोर्ट पहले से करता आया हूं। भारत अमेरिका के साथ मिलकर लश्कर-ए-तैयबा को आतंकी घोषित कर दिया, पर यह संगठन सबसे बड़ी फौज है। मुशर्रफ यहीं नहीं रूके आगे उन्होंने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा कश्मीर में ही है और यह हमारे और कश्मीर के बीच का मसला है।

आतंकी हाफिज को पहले भी बताया था हीरो

पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ इससे पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं कि न सिर्फ ओसामा बिन लादेन, अल जवाहिरी और हक्कानी को पाकिस्तान का हीरो बता चुके हैं। मुशर्रफ ने जम्मू-कश्मीर मे आतंकी भेजे जाने और पाकिस्तान द्वारा आतंकियों को सहयोग किए जाने का खुलासा भी किया था

सत्ता छोड़ने के बाद परवेज मुशर्रफ को लगभग 4 साल देश के बाहर रहना पड़ा। साल 2013 में वह चुनाव लड़ने के लिए पाकिस्तान लौटे पर उन्हें चुनाव लड़ने के आयोग्य करार दे दिया गया।

 

Comments

Most Popular

To Top